newsdog Facebook

कजली महोत्सव में पहुंची पद्मश्री गायिका मालिनी अवस्थी, लोकगीतों से बांधा समां

Eenadu India 2017-08-10 16:35:00

वीडियो देखें


महोबा। बुन्देलखंण्ड के ऐतिहासिक कजली मेला महोत्सव में पद्मश्री सम्मान से सम्मानित विश्व विख्यात लोक गायिका मालिनी अवस्थी पहुंची। मालिनी अवस्थी ने महोत्सव में अपने लोक गायन के जरिए समां बांधा।


आपको बता दें कि मालिनी अवस्थी ने कजली महोत्सव के सांस्कृतिक संध्या में कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ववलित कर की। सांस्कृतिक मंच के माध्यम से लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने बुन्देलखंण्ड ओर पूर्वांचल के लोक गीत, बधाई गीत और देवी गीत गाकर दर्शकों को मनमुग्ध कर दिया। मालिनी अवस्थी ने पूर्वान्चल ओर बुन्देलखण्ड संस्कृति के बीच मीलों दूरी होने के बावजूद एक बताया।

पढ़ें-

मालिनी अवस्थी ने सांस्कृतिक प्रोग्राम में लोक गीत राजा दशरथ जी घर मे जन्मे ललनवा, हमरी बलम से ऐसी बिगड़ी, गयो गयो रे सासो तोरो राज, जमाना आयो बहुरान का जैसे लोक गीतो ने कार्यक्रम में समां बांधा।