newsdog Facebook

सीएजी ने इन दो दिग्गज बिजली कंपनियों के RBI से कर्ज लेने पर उठाये गंभीर सवाल

India Samvad 2017-08-11 19:27:13

सीएजी ने बिजली क्षेत्र की दो दिग्गज कंपनियों पर सवाल उठाते हुए कहा है कि दोनों बिजली कंपनियों को लोन देने में आरबीआई के नियमों का उल्लंघन किया है।

नई दिल्ली : सीएजी ने बिजली क्षेत्र की दो दिग्गज कंपनियों पावर फाइनैंस कॉरपोरेशन (पीएफसी) और रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉरपोरेशन (आरईसी) पर सवाल उठाते हुए कहा है कि दोनों बिजली कंपनियों को लोन देने में आरबीआई के नियमों का उल्लंघन किया है। पांच  लोन मामलों में नियम तोड़े गए हैं। दोनों कंपनियों ने लोन देने से पहले पूरी जानकारी नहीं जुटाई। इनकी जांच परख नहीं की गई और ना वित्तीय रिकॉर्ड की जानकारी जुटाई गई।

सीएजी ने पीएफसी और आरईसी से जुड़ी अपनी ऑडिट रिपोर्ट में कहा कि वर्ष 2013-14 से लेकर 2015-16 के दौरान आरईसी और पीएफसी ने स्वतंत्र बिजली उत्पादन कंपनियों (आईपीपी) को करीब 47706.88 करोड़ रुपये का ऋण दिया। 


वर्ष 2015-16 के अंत तक आरईसी और पीएफसी के बहीखाते के मुताबिक आईआईपी के ऋण का 11762.61 करोड़ रुपये कुल एनपीए में तब्दील हो गया है। सीएजी का कहना है कि वर्ष 2013-14 से 2015-16 के दौरान वितरित रकम का 21.72 फीसदी हिस्सा एनपीए में चला गया।

सीएजी ने इन दोनों कंपनियों की कर्ज मंजूरी और वितरण प्रक्रिया में कई तरह की खामियों की ओर इशारा किया है। सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में कहा, 'आरईसी और पीएफसी ने ऋण प्रस्तावों के मूल्यांकन के समय ज्यादा शुल्क का अनुमान लगाया था नतीजतन छह मामलों में 8662 करोड़ रुपये के कर्ज की मंजूरी दी गई थी। इस तरह वास्तविक समतुल्य शुल्क के बजाय ज्यादा कर्ज दिया गया जिससे परियोजना की व्यावहारिकता संदेह के घेरे में आ गई।'