newsdog Facebook

मुकेश पांडे की तरह इन बड़े IAS अधिकारियों की खुदकुशी बनी सुर्खियों का सबब...

Times hindi.com 2017-08-12 15:53:05

मुकेश पांडे (फाइल फोटो)

बक्‍सर के डीएम मुकेश पांडे की आत्‍महत्‍या की खबर ने सबको झकझोर कर रख दिया है. यह सवाल जेहन में स्‍वाभाविक रूप से उभर रहा है कि आईएएस जैसी सर्वोच्‍च परीक्षा में 14वां स्‍थान पाने और बेहतरीन सर्विस रिकॉर्ड वाले शख्‍स को आखिर किन परिस्थितियों में आत्‍महत्‍या करनी पड़ी? उन्‍होंने बाकायदा एक सुसाइट नोट लिखा और बाकायदा वीडियो रिकॉर्ड भी किया. हालिया दौर में इस तरह कई बड़े आईएएस या आईपीएस अधिकारियों की खुदकुशी या संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत चर्चाओं में रही है:
अनुराग तिवारी
भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के अधिकारी अनुराग तिवारी की इसी 17 मई को लखनऊ में एक सड़क किनारे बॉडी मिली. पुलिस ने इसको 'रहस्‍यमय परिस्थितियों' में मौत कहा है. मृतक आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी 2007 बैच के कर्नाटक कैडर के आईएएस थे. वह यूपी के ही बहराइच के रहने वाले थे. पुलिस के मुताबिक उनकी बॉडी हजरतगंज इलाके में मीरा बाई गेस्‍ट हाउस के पास मिली. सबसे पहले सड़क से गुजरते कुछ राहगीरों ने बॉडी को सड़क किनारे देखा और पुलिस को सूचित किया. ऑफिसर की पहचान उसके आई-कार्ड से हुई है. संदिग्‍ध परिस्थितियों में बॉडी पाए जाने और परिजनों की मांग के बाद मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई.
डीके रवि
2009 बैच के कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी थे. कर्नाटक के कोलार जिले में डिप्‍टी कमिश्‍नर रहते हुए रेत और भू-माफिया के खिलाफ अभियान चलाने की वजह से सुर्खियों में आए. 2014 में उनका ट्रांसफर बेंगलुरू में कर दिया गया. वहां भी उन्‍होंने रियल एस्‍टेट के काले कारनामों पर लगाम लगाई. 16 मार्च, 2015 को उनके अपने बेडरूम में पंखे से लटका पाया गया. रहस्‍यमय परिस्थितियों में बॉडी पाए जाने पर परिजनों ने सीबीआई जांच की मांग की. सीबीआई ने अपनी जांच में 'निजी कारणों' को खुदकुशी के लिए जिम्‍मेदार ठहराया.
Read Source