newsdog Facebook

ओम पुरी ने जब नसीरुद्दीन शाह की जान बचाने को लगाई थी छलांग...

Crime Nazar 2017-08-12 15:58:51

दोस्ती भी बड़ी दिलदार चीज होती है। इसमें प्यार से बढ़ कर यार होता है। बॉलीवुड में इसकी एक से एक नजीर देखने को मिलती हैं। दोस्तों की इन्हीं जोड़ियों में से एक है जाने-माने एक्टर नसीरुद्दीन शाह और दिवंगत ओमपुरी की यारी। दोनों ने एक्टिंग का ककहरा साथ जाना। फिल्मों में साथ कदम रखा, लेकिन एक पेशे में रहते हुए दोस्ती में कभी खटास नहीं पड़ने दी। इस बात का सबूत है एक वाकया जब ओमपुरी ने नसीरुद्दीन की जान बचाई थी।

 

नसीरुद्दीन के मुताबिक बात 1977 के आसपास की है। भूमिका की शूटिंग उन दिनों चल रही थी। नसीरुद्दीन और ओमपुरी किसी ढाबे पर खाना खा रहे थे। वहां अचानक उनका एक दोस्त जसपाल पहुंचा, जिसने ओम को हेलो कहा। हमने उसे नजरअंदाज किया, लेकिन उसकी आंखें मुझ पर टिक गईं। पीछे कुर्सी पड़ी थी, जहां बैठने के लिए वह मेरे बगल से गुजरा। इसके बाद अचानक मुझे महसूस हुआ कि मेरी पीठ पर किसी ने नोंकदार चीज से वार किया है।

शाह ने इस बात का जिक्र अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘एंड देन वन डेः ए मेमॉइर’ में भी किया है। दरअसल, जसपाल को कुछ मनोवैज्ञानिक दिक्कत थी। उसे नसीरूद्दीन से दिक्कत होने लगी थी। उन दिनों उन्हें काम मिलने लगा था, लेकिन उसे काम नहीं मिल रहा था। उसने पीठ पर मेरे चाकू मारा।

मुझे तब कुछ पता नहीं लगा जब तक ओम चिल्लाकर उठा नहीं। उसने जसपाल को पकड़ा, नहीं तो वह मेरे ऊपर दूसरी बार हमला कर देता। शाह इस दौरान दर्द से बिलख रहे थे। जबकि पुरी जसपाल और होटल मैनेजर को संभाले थे।