newsdog Facebook

गुजरात में चोटी कटुवा का खौफ बरकरार, सरकार ने दिए जांच के आदेश

Indian Letter 2017-08-12 21:19:53

Posted By Vineet Verma on 12 August 2017 21:19 pm | 0 comments


अहमदाबाद: अहमदाबाद शहर समेत राज्यभर में चोटी कटुवा का खौफ बरकरार है| राज्य के कई हिस्सों में चोटी कटने की घटना सामने आने के बाद सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं| उत्तरी भारत के बाद अब गुजरात में चोटी कटने का सिलसिला थम नहीं रहा| गुजरात के भुज, भरुच, दमण और सूरत समेत विभिन्न जिलों में महिलाओं और युवतियों की चोटी कटने की शिकायतें सामने आ रही हैं| घर में बैठै बैठे किसी महिला की चोटी कटने का दावा किया जा रहा है तो कोई रात में सोते समय बाल कटने की शिकायत कर रहा है|

ये है लव, सेक्स और धोखे की असली कहानी

चोटी कटने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं, परंतु कौन काट रहा इसका अब तक खुलासा नहीं हुआ है| चोटी कटने से संबंधित कोई सबूत नहीं मिल रहा और राज्यभर में अफवाहों का बाजार गर्म है| राज्य में चोटी कटने की घटना में अचानक वृद्धि हुई है| जूनागढ़ के दौलतपरा मार्केट यार्ड के निकट रहनेवाली सीमा यादव नामक 54 वर्षीय महिला की चोटी कट गई| सीमा यादव की चोटी तब कटी जब वह रात में अपने घर में सो रही थी| दूसरे दिन सुबह उठने पर सीमा यादव को पता चला कि किसी ने उसकी चोटी काट दी है|



हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!



कांग्रेस छोड़ आए नेताओं को टिकट देने का वायदा निभाएगी भाजपा?

अहमदाबाद के शीलज स्थित एक फार्महाउस में रहनेवाली महिला की चोटी कटने की घटना सामने आई है| चंद्रावती नामक यह महिला चोटी कटने के खौफ से बेहोश हो गई थी| अहमदाबाद में एक ही दिन में चोटी कटने की दो घटनाओं से खौफ है| वहीं बनासकांठा जिले की खेरालू तहसील के बालापुर गांव निवासी हेतल ठाकोर नामक युवती की चोटी कट गई| हेतल का दावा है कि लाल साड़ी पहले सांवली महिला ने उसकी चोटी काट दी| चोटी कटने के बाद हेतल ठाकोर बेहोश हो गई, जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा|

चोटी कटने की लगातार बढ़ती घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन भी हरकत आ गया है और समूचे प्रकरण की जांच के लिए एक समिति गठित करने का फैसला किया है| सीआईडी क्राइम के अधिकारियों की समिति गठित की गई है, जो राज्य में चोटी कटने की 16 जितनी घटनाओं की जांच करेगी| गृह राज्य मंत्री प्रदीपसिंह जाडेजा ने बताया कि इस मामले को सरकार गंभीरता से ले रही और इसीलिए पूरे प्रकरण की जांच सीआईडी क्राइम को सौंपी गई है|

साथ ही जिला पुलिस अधीक्षक और पुलिस आयुक्त को आदेश दिया गया है कि इस प्रकार की घटनाओं की विस्तृत जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाए| साथ ही यदि अफवाह फैलाई जा रही हो और फर्जी शिकायत की जाए तो ऐसे लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाए| पुलिस को सोशल मीडिया पर भी नजर रखने का आदेश दिया है|