newsdog Facebook

जुबानी फतह तो हासिल पर जमीनी तैयारियां हैं नदारद

Janta Se Rishta 2017-09-11 12:31:01


जनता से रिश्ता/वेब्डेस्कस
भाजपा और कांग्रेस के नेताओं का 65 प्लस और 70 का फिट नहीं बैठ रहा गणित
भाजपा 25 तो कांग्रेस किसके लिए छोड़ रही 20 सीट
जसेरि
रायपुर। दिल्ली के नेता छत्तीसगढ़ में आकर कभी मिशन 65 तो कोई मिशन 70 कहकर भले ही जुबानी फतह हासिल कर रहे हों, लेकिन इन नेताओं के सुर में सुर मिलाकर यहां के सियासतदाओं के बोल भी बिगडऩे लगे हैं। इन जुबानी आंकड़ों की जीत के दावों के बीच एक बड़ा सवाल यह है कि दोनों ही पार्टियां बकाया सीटों को किसे मिलने का गणित लगा रही हैं। हालाकि कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया ने 70 वाले बयान को बड़े जल्दी ही भूलकर अब सुधारवादी लहजे में पूरी 90 सीटों पर जीत का दावा कर रहे हैं। इधर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन-65 का फरमान सुनाकर चले गए जिसे जोश से भरे पार्टी नेताओं ने 65 प्लस कह संगठन और कार्यकर्ताओं की नींद खराब कर दी है। कांग्रेस और भाजपा अब दोनों ही संगठनों के पदाधिकारी और आला नेता बूथ वाइस और मंडल-प्रकोष्ठ स्तर पर जी-प्राण लगा रहे हैं।
सूबे में होने वाले 2018 के चुनावी दंगल के लिए पहले ही जीत के आंकड़े जाहिर करने वाली अदा के बीच बकाया 25 और 20 सीट का गणित चूक रहा है वह क्या तीसरी पार्टी व अन्य को मिलने वाला है इस सवाल पर नेता बगले झांकने लगे हैं। आंकड़ों की जल्दबाजी में हारने वाली सीटों के नुक्सान का किसे लाभ होगा इसका जवाब न तो भाजपा और न ही कांग्रेस के पास जवाब है।

कांग्रेस का सवाल कौन सी 25 सीट हार रही भाजपा?
पुनिया ने भाजपा के मिशन 65 पर तंज भी कसा। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने यदि 65 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है तो वह यह भी बता दे कि किन 25 सीटों को वह हार रही है। उन्होंने कांग्रेस के लक्ष्य के सवाल पर कहा कि पार्टी सभी 90 सीटें जीतने के लक्ष्य के साथ तैयारी कर रही है। पार्टी आज पूरी तरह से मजबूत है, संगठन बेहतर तरीके से काम कर रहा है। सभी नेता एकजुट होकर चुनाव मैदान में उतरेंगे। इन मुद्दों पर घेरेगी पार्टी उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने राज्य के आर्थिक-सामाजिक और राजनीतिक ताने-बाने को तोड़ा है। चुनाव में जनता से बड़े-बड़े वादे किए गए। पार्टी बनते ही वादों से मुकरने वाली सरकार को अब जनता सबक सिखाएगी।

भाजपा ने कहा तो कांग्रेस ही बता दे वो कौन सी 20 सीट हारेगी
भाजपा कौन सी 25 सीट हारेगी वाले सवाल पर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा से सवाल पूछने की स्थिति में फिलहाल कांग्रेस नहीं है। उन्हों ने कहा कांग्रेस ही बता दे कि विधानसभा की 90 सीटों में से 70 में जीत का दावा करने वाली कांग्रेस कौन सी 20 सीट हारने वाली है। श्री कौशिक ने कहा कि कांग्रेस न तो मुद्दे उठाना जानती है और न ही संगठन व कार्यकर्ता स्तर पर काम करना। कांग्रेस पार्टी नेताओं की पार्टी है। उन्हों ने कहा चुनाव नेतागिरी से नहीं जनता के लिए काम कर दिल जीतने से जीतते हैं।

मुद्दे छोड़ संगठन और लक्ष्य की बात कर रहे सीएलपी
नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव के मुताबिक भाजपा केवल प्रचार करती है कि उसकी संगठनात्मक तैयारी है। वास्तव में कांग्रेस की अपनी तैयारी कम नहीं है। हर बूथ के कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने का काम शुरू हो चुका है। पहले हर बूथ के दो लोगों को फिर 10-10 लोगों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। उसके बाद हर बूथ से 60-60 लोगों को बुलाकर सम्मेलन किया जाएगा। कांग्रेस हर मोर्चे पर काम करेगी। बीजेपी केवल एससी और एसटी सीटों की बात कर रही है। पर कांग्रेस समाज के हर वर्ग के लोगों को साथ चुनाव मैदान में उतरेगी। लक्ष्य बनाकर काम करने की रणनीति
————————————