newsdog Facebook

पठानकोट में एक ही दिन में तीन जगह कटे बाल

Uttam Hindu 2017-09-11 21:01:00

पठानकोट/जितेन्द्र: शहर में एक ही दिन में तीन जगह पर बाल कटने के मामले सामने आये हैं। घटना का शिकार दो महिलाएं और एक पुरूष हुआ है। बाल कटते ही तीनों मौके पर बेहोश हो गए। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। पहला मामला इंदिरा कॉलोनी का है। इसके बाद गांव हरियाल और गांव मनवाल में बाल कटे। जिले में बाल कटने की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। अब तक करीब दस से ज्यादा लोगों के बाल कट चुके हैं। अधिकतर महिलाएं इसका शिकार हो रही हैं। हालंाकि बाल कटने का कारण किसी को नहीं पता चल पाया है। इंदिरा कॉलोनी निवासी मुकेश कुमार सोमवार को अपने घर की छत पर पालतू कुत्तों को भोजन देने के लिए गया था कि अचानक उसे लगा जैसे किसी ने उसका सिर बड़े जोर से पीछे से खींचा हो जब उसने घूम कर देखा तो आसपास कोई नहीं था तभी उसने देखा कि मकान की छत पर उसके पैरों के पास उसी के कटे हुए बाल पड़े हुए हैं। इससे घबराकर वह चिल्लाया और बेहोश हो गया। परिजनों ने उसे सिविल में पहुंचाया।  इसके बाद गांव हरियाल में गयारहवीं कक्षा की छात्रा के बाल कटने की सूचना भी मिली है। हरियाल निवासी प्रीति सोमवार को अपने घर में ही थी जब उसके बाल कट गए। बाल कटने पर प्रीति भी चिल्ला कर बेहोश हो गई। इसके बाद परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में ईलाज के लिए पहुंचाया। प्रीति को भी घटना के वक्त सिर मे खिंचाव महसूस हुआ। वहीं सोमवार को गांव मनवाल में भी बाल कटने का तीसरा मामला सामने आया है। इस मामले में एक विवाहिता अपने घर में खाना बनाकर रसोई से जैसे ही कमरे में गई तो उसे सिर में खिंचाव महसूस हुआ और वह बेहोश होकर गिर पड़ी। पीडि़ता की पहचान पिंकी देवी पत्नी सुरिंदर कुमार के रूप में हुई है। 
'बाल कटने का कारण पता नहीं'
वहीं बाल कटने का कारण किसी को भी नहीं पता चला है। यह एक तरह से रहस्य ही बना हुआ है। घटनाओं से लोग अंधविश्वासों में घिर रहे हैं। तांत्रिकों आदि के पास जाकर लोग टोटके कर रहे हैं। सिविल अस्पताल में ऐसे मरीजों का ईलाज कर रहे डॉ रोहित अत्री ने बताया कि सभी केस एक जैसे हैं। कारण का पता नहीं चल पा रहा है। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400043000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।