newsdog Facebook

सीकर : अन्नदाताओं का महापड़ाव, धारा 144 लागू

Eenadu India 2017-09-12 12:53:00

किसानों का प्रदर्शन ।


सीकर। स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने और कर्ज माफी की मांग को लेकर पिछले 11 दिनों से प्रदेश के किसान सीकर जिले में महापड़ाव में बैठे हैं। किसानों को ये आंदोलन अब तेज होता जा रहा है। वहीं, किसानों के महापड़ाव को देखते हुए प्रशासन ने कलेक्ट्रट के आस-पास कर्फ्यू लगा दिया है।


किसानों का महापड़ाव लगातार जारी है और किसानों ने  आज पूरे राजस्थान में चक्का जाम की घोषणा की है। किसानों के प्रदर्शन के कारण  जिले में जगह-जगह जाम लगा हुआ है। किसानों के साथ अब महिलाएं भी सड़कों पर उतर आई हैं। किसान आंदोलन इस वजह से काफी जोर पकड़ रहा है क्योंकि इस जिले में अधिकतर लोग किसी न किसी तरीके से खेती से जुड़े हैं।

किसानों के महापड़ाव को देखते हुए सोमवार को सरकार ने किसान प्रतिनिधियों को जयपुर में आकर बातचीत का न्योता दिया लेकिन किसान सोमवार को वार्ता के लिए नहीं आये। जिसके बाद सरकार ने फिर से आज शाम 5 बजे वार्ता के लिए बुलाया है।

वहीं, किसान प्रतिनिधियों ने सरकार के प्रतिनिधियों से सीकर धरना स्थल पर आकर बातचीत करने की बात भी कही है। किसानों का कहना है कि सरकार लगातार किसानों की मांगों को टाल रही है। टाल-मटोल का यह रवैया अब नहीं चलेगा।

सुरक्षा के मद्देनजर सीकर जिले में धारा 144 लगा दी गई। सीकर के किसान ने एक सितंबर को यहां इकट्ठा हुए थे। किसानों के महापड़ाव को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। किसी भी प्रकार घटना के मद्देनजर सीकर में धारा 144 लागू है।