newsdog Facebook

वो शख्स...जिसने एक भी परीक्षा पास नहीं की, वो व्यक्ति बन गया अरबपति

Live India 2017-09-12 14:33:11

ये कहानी चीन में 10 सितम्बर 1964 जन्मे जैक मा की है। जो जीवन में मिली कई असफलताओं के बीच संघर्ष को चुनते है, और अपना नजरिया बदलकर सफलता कि एक नई इबारत लिखते है।

जैक मा का बचपन बेहद संघर्षपूर्ण रहा है, जिस इंसान को लगभग तीस से अधिक कम्पनीज ने नौकरी देने से मना कर दिया हो। जिसे पुलिस की नौकरी के योग्य ना समझा गया हो। KFC की नौकरी के लिए जिन 24 लोगो ने आवेदन किया हो और उन्हें छोड़कर 23 लोगो को चुन लिया गया हो। प्रसिद्ध हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में जिसका आवेदन 10 बार खारिज किया हो। अगर ऐसा आपके साथ होता तो आप टूट जाते। लेकिन जैक मा ने हार नहीं मानी।

जीवन के शुरुआती वर्षो में जैक इंग्लिश सीखने के लिए गाइड की भूमिका स्वीकार्य की ताकि विदेशी सैलानियों से वो इंग्लिश में बात कर सके। 1994 में जैक ने इंटरनेट के बारे में पहली बार सुना। 1995 में वो अपने मित्रों के साथ US चले गए जहां उनके मित्रों ने उन्हें इंटरनेट से परचित कराया।

उन्होंने इंटरनेट में सबसे पहला शब्द बियर सर्च किया जिसके सर्च करते ही उन्हें कई देशों के बियर की जानकारी मिली। लेकिन चीन के बियर की कोई जानकारी नहीं मिली इसके बाद उन्होंने चीन के बारे में सामान्य जानकारी सर्च की जो उन्हें इंटरनेट में नहीं मिली। इस एक घटना ने उन्हें इंटरनेट कि दिशा में कार्य के लिए प्रेरित किया।


 1999 में अपने 17 मित्रो के साथ उन्होंने अलीबाबा शुरू की। अलीबाबा 240 से अधिक देशो में 79 मिलियंस से अधिक लोगो को सुविधाएं उपलबध कराती है। यह कंपनी विश्व के 190 कंपनियों से जुड़ी हुई है। ये चीन की सबसे बड़ी E- commerce Site जिसके नाम एक दिन में सबसे अधिक सामान बेचने का रिकॉर्ड दर्ज है। अलीबाबा ने एक दिन में 925 अरब रुपए की सेलिंग की है alibaba.com वेबसाइट के अलावा यह taobao.com चलाती है जो चीन की सबसे बड़ी शॉपिंग वेबसाइट है।

अलीबाबा कंपनी की सफलता का अंदाजा इसी बात से लगया जा सकता है कि इस कंपनी ने अपना आईपीओ 4080 रुपए (68 डॉलर) पर पेश किया था और मार्केट खत्म होने पर इसकी कीमत 5711 रुपए (93.89 डॉलर) हो गई थी। जैक की निजी संपत्ति की कीमत करीब 130800 करोड़ रुपए है। मा चीन के सबसे धनी आदमियों में शुमार है।

जैक मा को उनकी सेवाओं के लिए कई पुरस्कारों से नबाजा गया है, जिनमे 2004 में उन्हें चीन सेंट्रल टेलीविज़न और उसके दर्शकों द्वारा top 10 bussiness leaders of the year में शामिल किया गया। 2005 में मा को वर्ल्ड इकनोमिक फोरम द्वारा यंग ग्लोबल लीडर चुन गया। 2014 में फोर्ब्स द्वारा मा को विश्व के 30 प्रतिभाशाली लोगो में चुना गया।  कितने आश्चर्य की बात है कि जिस जैक मा को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए दाखिला नहीं मिला।  आज उन्हें  हार्वर्ड  यूनिवर्सिटी में  गेस्ट लेक्चर  के लिए बुलाया जाता है।