newsdog Facebook

बांग्लादेश की रोहिंग्या मुसलमानों को सुदूर द्वीप पर बसाने की योजना

Dainik Tribune 2017-09-12 18:37:01

ढाका (एजेंसी):म्यामां में हिंसा के बाद वहां से भागे हजारों रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थियों को बांग्लादेश के एक बंजर द्वीप पर अपना नया आशियाना बसाने पर मजबूर होना पड़ सकता है। उस द्वीप पर हर साल बाढ़ आती है। बांग्लादेश सरकार ने रोहिंग्या मुस्लिमों को उस द्वीप पर पहुंचाने के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद की अपील की है क्योंकि म्यामां के रखाइन प्रांत में सैन्य कार्रवाई के बाद से गरीबी से जूझ रहे बांग्लादेश में बड़ी संख्या में रोहिंग्या मुस्लिम शरण की आस में पहुंच रहे हैं और उन्हें बसाने को लेकर अधिकारियों को संकट का सामना करना पड़ रहा है। रखाइन प्रांत में गत 25 अगस्त से शुरु हुए हिंसा के नये दौर के बाद से बांग्लादेश में 3 लाख से अधिक रोहिंग्या लोग आ गये हैं। लगभग 3 लाख शरणार्थी पहले से ही म्यामां सीमा के निकट कॉक्स बाजार जिले में संयुक्त राष्ट्र के शिविरों में रह रहे हैं। सरकार रोहिंग्या लोगों को शरण देने के लिए म्यामां सीमा के निकट कॉक्स बाजार के करीब दो हजार एकड़ (800 हेक्टेयर) क्षेत्र में एक नया शिविर स्थापित करने की भी योजना है जिसमे लगभग दो लाख 50 हजार रोहिंग्या मुस्लिमों रह सकेंगे। प्रधानमंत्री शेख हसीना मंगलवार को इस स्थल का दौरा करेंगी।