newsdog Facebook

जैक्सन ने बनाया रिकार्ड

Lok Tej 2017-10-10 19:31:23

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारत के जैक्सन सिंह फीफा अंडर-17 विश्व कप फुटबॉल में गोल करने के साथ ही छा गये हैं। ग्रुप-ए के दूसरे मैच में कोलंबिया के खिलाफ 82वें मिनट में जैक्सन ने भारत की ओर से एकमात्र गोल किया। इस मैच में हार से भारत की संभावनाएं समाप्त हो गयीं पर उसे भविष्य के लिए जैक्सन के रुप में एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी जरुर मिल गया है। जैक्सन भारत की ओर से विश्व कप में पहला गोल दागकर रिकॉर्ड बुक में शामिल हो गए। जैक्सन के इस गोल से यह साफ हो गया है कि भारतीय टीम आने वाले समय में विश्व फुटबॉल में अपनी धाक जमा सकती है।

जैक्सन का फुटबॉलर बनने का सफर आसन नहीं रहा। भारतीय टीम में चुने गए जैक्सन को फुटबॉलर बनाने के लिए उनकी मां ने कड़ा संघर्ष किया है। दो साल पहले पिता की नौकरी जाने के बाद परिवार का गुजारा सब्जी बेचकर हुआ पर इतने कठिन हालात में भी जैक्सन ने फुटबॉल नहीं छोड़ा। जैक्सन मणिपुर के थोउबल जिले के हाओखा ममांग गांव के हैं। उनके पिता कोंथुआजम देबेन सिंह को 2015 में पक्षाघात हुआ और उन्हें मणिपुर पुलिस की अपनी नौकरी छोड़नी पड़ी।

उनके परिवार का खर्च मां इंफाल के ख्वैरामबंद बाजार में सब्जी बेचकर चलाती हैं, जो घर से 25 किलोमीटर दूर है। जैक्सन को 2015 में चयनकर्ताओं की उपेक्षा भी झेलनी पड़ी, जब वह चंडीगढ़ में एकेडमी में थे। इसके बावजूद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और अंडर 17 विश्व कप के लिए भारतीय टीम में जगह बनाई। शुरुआत में चंडीगढ़ फुटबॉल एकेडमी के साथ खेलने वाले जैक्सन बाद में मिनर्वा से जुड़े और राष्ट्रीय अंडर-15 तथा अंडर-16 खिताब जीतने वाली टीम के कप्तान भी रहे।