newsdog Facebook

भारत सरकार और गृह मंत्रालय का पांच दिवसीय अनुवाद प्रशिक्षण का आयोजन

Prabhasakshi 2018-03-13 19:56:30

राष्ट्रीय



भारत सरकार और गृह मंत्रालय का पांच दिवसीय अनुवाद प्रशिक्षण का आयोजन

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 13 2018 7:17PM

Image Source: Google

केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो, राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार एवं नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति उदयपुर के संयुक्त तत्वाधान में भारतीय मानव विज्ञान सर्वेक्षण कार्यालय के सभागार में पांच दिवसीय अनुवाद प्रशिक्षण शुरू हुआ जिसकी अध्यक्षता समिति के अध्यक्ष श्री जे. सी. मेनारिया, प्रधान महाप्रबंधक दूरसंचार जिला उदयपुर ने की। इस प्रशक्षिण कार्यक्रम में श्री राकेश कुमार पाठक एवं श्रीमती मीना गुप्‍ता, सहायक निदेशक, केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो, नई दिल्‍ली प्रशक्षिण प्रदान करेंगे। कार्यक्रम की शुरुआत समिति के अध्यक्ष श्री जेसी मेनारिया एवं राजभाषा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी श्री राकेश कुमार पाठक एवं श्रीमती मीना गुप्ता ने की मॉ सरस्‍वती के समक्ष दीप प्रज्‍ज्‍वलित कर की।

 

इस कार्यक्रम में उदयपुर नगर में स्थित सभी केंद्रीय सरकार के कार्यालय, उपक्रम, बैंक और बीमा कंपनियों के हिंदी अनुवादक, राजभाषा अधिकारी और हिंदी अधिकारियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम के संयोजक श्री गिरिराज पालीवाल, सदस्य सचिव नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति उदयपुर ने बताया की राजभाषा विभाग का केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो अनुवाद से जुड़े पूरे वर्ष में 72 कार्यक्रम आयोजित करता है जिसमें सभी केंद्रीय कर्मचारियों, अधिकारियों को अनुवाद का नि:शुल्क प्रशिक्षण प्रदान करता है साथ ही साथ अनुवाद संबंधी कार्य भी करता है। इसी क्रम में उदयपुर में यह संक्षिप्त अनुवाद कार्यक्रम उदयपुर के केंद्रीय कर्मचारियों के लिए आयोजित किया गया है। उन्होंने बताया कि पांच दिवसीय अनुवाद प्रशिक्षण पूर्ण करने वाले कुल  27 अधिकारी कर्मचारियों को  भारत सरकार द्वारा  प्रमाण पत्र  प्रदान किया जाएगा। उद्घाटन सत्र में अध्यक्ष महोदय ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम की परम्‍परागत तरिके से शुभारम्‍भ किया और सभी को शुभकामनाएं दी कि इस पांच दिवसीय अनुवाद प्रशिक्षण से सरकारी कार्यालयों को हिंदी से अंग्रेजी और अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद संबंधी कार्यों में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि हम सभी हिंदी भाषी क्षेत्र से हैं और हमें हिंदी राजभाषा का प्रचार प्रसार के साथ ही इसे आत्मसात  भी करना है। कार्यक्रम में विशेष सहयोग अजय चौधरी, वरिष्‍ठ अनुवादक, भारतीय मानव विज्ञान सर्वेक्षण, पश्चिमि‍ सांस्‍कृतिक‍ मंत्रालय का रहा।