newsdog Facebook

Gorakhpur bypoll results 2018: कौन बना गोरखपुर का सांसद जानिए

Patrika 2018-03-14 08:08:08

किसके सिर पर सजा गोरखपुर सांसदी का ताज, इंतजार खत्म होने को

गोरखपुर। अभी कुछ ही घंटों केबाद गोरखपुर संसदीय सीट पर हुए उपचुनाव का परिणाम आने लगेगा। इसी के साथ गोरखपुर के नए सांसद का ऐलान भी हो जाएगा।
गोरखपुर संसदीय सीट पर हुए उपचुनाव में दस प्रत्याशी मैदान में थे। इन प्रत्याशियों के भाग्य का निर्णय 11 मार्च को मतदाताओं ने कर दिया।
ईवीएम में बंद मतदाताओं का फैसला आज सार्वजनिक हो जाएगा।

इन प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला कुछ देर में

उपेंद्र दत्त शुक्ला भाजपा
डॉ. सुरहिता करीम कांग्रेस
प्रवीण निषाद सपा
गिरीश पांडेय सर्वोदय भारत पार्टी
अवधेश निषाद बहुजन मुक्ति पार्टी
विजय कुमार निर्दल
नरेंद्र कुमार महेता निर्दल
मालती देवी निर्दल
श्रवण निषाद निर्दल
राधेश्याम सेहरा निर्दल

इतने मतदाताओं ने दिया था वोट

गोरखपुर संसदीय क्षेत्र में 19 लाख 49 हजार 638 मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग करना था। लेकिन केवल 934761 मतदाताओं ने मतदान में हिस्सा लिया। यह कुल मतदाताओं का करीब 47.94फीसदी है। लोकसभा क्षेत्र के करीब 10 लाख 72 हजार पुरुष मतदाताओं में चार लाख अन्ठानवे हजार ने मताधिकार का प्रयोग किया। यह करीब 46 प्रतिशत के आसपास है। जबकि आठ लाख सतहत्तर हजार महिला मतदाताओं में चार लाख छततीस हजार महिलाओं ने वोट किया। यानि पचास प्रतिशत के आसपास।

यहां होगी गिनती, यह है व्यवस्था

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विवि में पांच भवनों में गिनती होगी। गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र के 320-कैम्पियरगंज विधानसभा की गणना गोविवि के बैडमिन्टन हाल में कराई जाएगी। जबकि 321-पिपराइच विधान सभा की गणना विवि के ही काॅमर्स ब्लाक (पश्चिमी) में होना सुनिश्चित है।
322-गोरखपुर शहर विधानसभा क्षेत्र में पड़े वोटों की गिनती गोरखपुर विश्वविद्यालय के कला संकाय भवन में होना तय किया गया है। 323-गारेखपुर ग्रामीण विधान सभा की गणना विवि के कन्वेशन हाल होगा। जबकि 324-सहजनवां विधान सभा के मतों की गिनती विवि के काॅमर्स ब्लाक (पूर्वी) में किया जाएगा।

प्रत्येक विधानसभा में 14 टेबिल लगाए गए
जिलाधिकारी राजीव कुमार रौतेला ने बताया कि प्रत्येक विधान सभा में 14 टेबिल मतगणना के लिए लगायी जायेगी। इसके अलावा एक आरओ की टेबिल होगी। प्रत्येक टेबिल पर एक राजपत्रित अधिकारी, सुपरवाइजर तथा केन्द्रीय कार्यालय के अधिकारी, माइक्रो आब्र्जवर तैनात होंगे। इसके अलावा एक सहायक तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी लगाया जायेगा। डीएम ने बताया कि मतगणना कार्मिको को 14 मार्च बुधवार को मतगणना के लिए सुबह 6 बजे विश्वविद्यालय पहुंचना होगा।

मतगणना केंद्र पर ही पता चलेगा किस कर्मचारी की ड्यूटी कहां
मतों की गिनती के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगा दी गई है। लेकिन कौन कर्मचारी कहां-किस टेबल पर तैनात किया जाएगा यह कर्मचारी को मतगणना वाले दिन ही बताया जाएगा। डीएम राजीव रौतेला ने बताया कि मतगणना केंद्र पर पहुंचने के बाद कर्मचारियों को बताया जाएगा कि किस विधान सभा के किस टेबिल पर मतगणना के लिए जाना है। उनका डियूटी चार्ट वहां पर प्रदर्शित किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि पोस्टल बैलेट की गिनती शुरू करने के आधे घण्टे बाद से कन्टोल यूनिट से मतगणना शुरू करायी जायेगी। प्रत्येक कन्ट्रोल यूनिट के साथ मत पत्र लेखा 17सी संलग्न रहेगा। इसे वहां उपस्थित एजेन्ट को देखना अनिवार्य है। मतगणना सहायक कन्ट्रोल यूनिट को प्रदर्शित करते हुए ऊंची आवाज में प्रत्येक उम्मीदवार को प्राप्त मतों की संख्या बोलेगा जिसे सुनकर सुपरवाइजर, माइक्रो आब्र्जवर तथा एजेन्ट नोट करेंगे। मतो के टेबिल पर प्रत्येक चक्र में एजेन्ट से हस्ताक्षर कराना अनिवार्य होगा।
जिलाधिकारी ने बताया कि माइक्रो आब्र्जवर समूचित ढंग से मतगणना कराने तथा डाटा आपरेटर द्वारा इसे फीड कराने के बाद आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षक को रिपोर्ट करेंगे।

अपनी कम्युनिटी से वैवाहिक प्रस्ताव पाएं। फोटो और बायोडेटा पसंद आने पर तुरंत वाट्सएप्प / फ़ोन पर बात करें।३,५०,००० मेंबर्स की तरह आज ही familyshaadi.com से जुड़ें।FREE

ऑफलाइन इस्तेमाल करें mobile app - अब आप बिना इंटरनेट के भी mobile app को इस्तेमाल कर सकते हैं। पहले ख़बरों को अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर लें जिससे आप बाद में बिना इंटरनेट के भी पढ़ सकते हैं। Android OR iOS