newsdog Facebook

ट्रांस गंगा सिटी विवाद, शासन-प्रशासन की मंशा नहीं है ठीक, मुंह में राम बगल में छूरी का लगाया आरोप

Patrika 2018-03-14 10:44:09

नहीं मिल रहा है किसानों को न्याय, आंदोलित ट्रांस गंगा सिटी के निवासी...

उन्नाव. शासन प्रशासन की मंशा ठीक नहीं है उनके हाथ में तो कलम है लेकिन बगल में छुरी है। सरकार और नेता लोग एक नारा लगाते हैं। जय जवान जय किसान पर कन्नौज के एक साथी ने जोड़ा है जय जवान जय किसान, चढ़ जा बेटा सूली, पर तेरा भला करे भगवान। यदि गौर से अध्ययन किया जाए तो यही आज देश की स्थिति है। पूंजीवादी व्यवस्था देश पर हावी है । देश के अंदर जो IAS हैं , वह पूंजीपति का ही बेटा है बड़े लोगों का। आपका बेटा 20 किलो का राइफल टांगने वाला एक सिपाही हो सकता है। ट्रांस गंगा सिटी के लिए अधिग्रहित की गई उनके खिलाफ चलाए जा रहे आंदोलन को संबोधित करते हुए किसान नेता गीतेन्द्र यादव ने उक्त विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि यूपीएसआईडीसी किसानों के साथ न्याय करें । यदि किसानों को न्याय नहीं किया जाता है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी यूपीएसआईडीसी की होगी। उन्होंने कहा कि यदि यूपीएसआईडीसी ट्रांस गंगा सिटी में किसी भी प्रकार जमीन पर कब्जा करने की सोच रहे हैं। तो वह आपका भ्रम है।

 

ट्रांस गंगा सिटी के लिए अधिग्रहित की गई जमीन का विवाद

गौरतलब है ट्रांस गंगा सिटी के लिए यूपीएसआईडीसी द्वारा अधिग्रहित की गई जमीन के खिलाफ शंकरपुर सराय सहित विभिन्न गांव के लोग विगत 6 माह से आंदोलन चला रहे हैं। जिसमें स्थानीय ग्रामीणों के अलावा दूर दराज से भी किसान नेता किसानो की हक की लड़ाई के लिए अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। बिग सेलिब्रिटी संपत पाल के साथ अमेरिका से आए पत्रकार भी कार्यक्रम में शामिल होना था। जिसको देखते हुए मौके पर बड़ी संख्या में प्रभावित किसान एकत्र हो गए थे।

 

6 माह से चल रहा धरना प्रदर्शन

ट्रांस गंगा सिटी की भूमि पर विगत 6 माह से ज्यादा समय से धरना स्थल पर क्षेत्र का किसान आंदोलित है। किसान आंदोलन के धरना स्थल पर भारी संख्या में किसान एकत्र हुए। इस मौके पर कन्नौज से किसान संघर्ष समिति के प्रदेश अध्यक्ष गीतेन्द्र यादव अपने साथियों सहित मोजूद थे । किसानों ने सभा की और उसमें गंभीर मुदो पर विचार किया गया। यूपीएसआईडीसी द्वारा की जा रही गलतबयानी से भी किसानों में रोष व्याप्त है। उनका कहना था कि कि जब तक किसानों को संवैधानिक प्रक्रिया के तहत लाभ नहीं मिलता है तब तक किसान आंदोलित रहेगा। धरना स्थल पर किसान नेताओं के साथ बड़ी संख्या में महिलाओं की उपस्थिति भी थी। धरना स्थल पर किसानों के समर्थन में भाग लेने के लिए अमेरिका से पत्रकार का इंतजार था। जिनके साथ गुलाबी गैंग की कमांडर संपत पाल को भी आना था। परंतु अमेरिकी पत्रकार की तबीयत खराब होने संपत पाल का भी प्रोग्राम पोस्टपोन कर दिया गया। इस मौके पर किसान नेता सनोज यादव सहित अन्य लोग मौजूद थे।

अपनी कम्युनिटी से वैवाहिक प्रस्ताव पाएं। फोटो और बायोडेटा पसंद आने पर तुरंत वाट्सएप्प / फ़ोन पर बात करें।३,५०,००० मेंबर्स की तरह आज ही familyshaadi.com से जुड़ें।FREE

ऑफलाइन इस्तेमाल करें mobile app - अब आप बिना इंटरनेट के भी mobile app को इस्तेमाल कर सकते हैं। पहले ख़बरों को अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर लें जिससे आप बाद में बिना इंटरनेट के भी पढ़ सकते हैं। Android OR iOS