newsdog Facebook

2019 से पहले यूपी में RSS ने की ये बड़ी प्लानिंग

Poorvanchal Media 2018-03-14 10:46:21

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की नागपुर में आयोजित अखिल इंडियन प्रतिनिधि सभा (9-11 मार्च) में मिशन 2019 पर भी चर्चा की गई है. गोरक्ष प्रांत सहित उत्तर प्रदेश के चार प्रांतों के पदाधिकारियों से बोला गया है कि लोकसभा चुनाव में जीत की राह उत्तर प्रदेश से निकलती है.

वहां लोकसभा की 80 सीटें हैं. उत्तर प्रदेश के आरएसएस संगठन में भी परिवर्तन किया गया है. चुनाव से पहले ही संघ की ओर से लगाई जाने वाली शाखाओं का विस्तार भी किया जाना है.

आरएसएस ने उत्तर प्रदेश का संगठनात्मक ढांचा बदल दिया है. कभी सिद्धार्थ नगर, देवरिया के जिला प्रभारी व गोरक्ष प्रांत के प्रचारक रहे अनिल को एरिया प्रचारक बनाया गया है. वह कानपुर, अवध, काशी व गोरक्ष प्रांत का कामकाज देखेंगे.

अवध प्रांत के सह प्रांत प्रचारक रमेश को काशी एरिया का प्रांत प्रचारक बनाया गया है. यह एरिया पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय सीट से जुड़ा है. इसलिए संगठनात्मक परिवर्तन को बड़े रूप में देखा जा रहा है. एरिया प्रचारक रहे शिव नारायण को राष्ट्रीय टीम में स्थान दी गई है. शिव नारायण को राष्ट्रीय प्रकाशन का दायित्व मिला है.

चुनाव से पहले मेगा शो
2019 के लोकसभा चुनाव से पहले गोरक्ष प्रांत में आरएसएस का बड़ा प्रोग्राम में होगा जिसमें सर संघ चालक मोहन भागवत से लेकर आरएसएस के तमाम पदाधिकारी भाग लेंगे. इसकी तैयारी में गोरक्ष प्रांत के पदाधिकारी जुट गए हैं.

नवंबर 2018 से फरवरी 2019 के बीच संभावित इस प्रोग्राम में करीब चार लाख स्वयंसेवकों को शामिल कराने की योजना है.गोरक्ष प्रांत में आने वाले 10 जिलों में 1520 शाखाएं लगाने की योजना है. अभी तक इन जिलों में 907 शाखाएं लगती हैं.

पहले चरण में 332  ऐसे मंडलों में शाखा लगाई जानी है. जहां लोगों से मिलने का कार्य तो होता है लेकिन शाखाएं नहीं लगती हैं.इसके बाद 381 मंडलों में शाखा का विस्तार किया जाएगा.