newsdog Facebook

सलाम कीजिए इस हिन्दू वकील को जो बिना फीस दिलाएगी कठुआ कांड की मुस्लिम बच्ची को इंसाफ

NEWS ALART 2018-04-16 17:02:36


जम्मू कश्मीर के कठुआ कांड में एक आठ साल की मुस्लिम बच्ची के साथ जो दरिन्दगी हुई, उससे हर कोई हैरान है। पूरा देश नि:शब्द हो गया है। सुप्रीम कोर्ट के जज भी स्तब्ध हो गये हैं। सब शोक मना रहे हैं लेकिन इस बीच एक हिन्दू वकील सामने आई है जिसने उस गरीब मुस्लिम बच्ची के दरिन्दों को जेल में डालने की ठानी है। आइए हम बताते हैं वो कौन है और कितना दबाव उनपर पड़ रहा है।

ये है वो वकील जो लड़ेगी बच्ची का केस

कठुआ कांड में बच्ची के साथ दरिंदगी कर मार डाला गया लेकिन अभी उसकी आत्मा इंसाफ की गुहार लगा रही है। जम्मू कश्मीर की वकील दीपिका सिंह राजावत ही वो महिला वकील हैं जिन्होंने मजहब की दीवार लांघते हुए एक मुस्लिम बच्ची को इंसाफ दिलाने की ठानी है। दीपिका सिंह राजावत पेशे से वकील हैं और जम्मू में ही प्रैक्टिस करती हैं।

लाखों में है फीस, केस सुनकर ही भर आया दिल

दीपिका सिंह की एक केस की फीस लाखों रुपये है। हालांकि वो इस केस के लिए कोई पैसा नहीं ले रही हैं। एक इंटरव्यू में खुद दीपिका ने बताया कि उनको जब एक आठ साल की बच्ची के साथ दरिन्दगी का पता चला तो उनका दिल भर गया। उन्होंने उसी समय ठान लिया कि इस केस को वो ही लड़ेंगी और बच्ची के दरिन्दों को सलाखों के पीछे पहुंचाकर बच्ची की आत्मा और उसके परिवार को इंसाफ दिलाएंगी।
 लगातार मिल रही केस छोड़ने की धमकी

दीपिका ने जब से इस केस को अपने हाथों में लिया है। विरोधियों के होश उड़ गए हैं। उनको बार-बार इस केस को छोड़ने की धमकी दी जा रही है। यहां तक कि वकील ही उनके खिलाफ हो गये हैं। उनको जम्मू बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जान से मारने की धमकी तक दे डाली है। यह बात खुद दीपिका ने इंटरव्यू में बताई है। उन्होंने बताया कि कोर्ट में ही उनको आते-जाते धमकियां दी जा रही हैं।
कोर्ट ने मुहैया करवाई है सुरक्षा

आपको बता दें कि उन्होंने कोर्ट को जैसे ही इस बारे में बताया कि उनको इस केस की वजह से जान का खतरा हो गया है। कोर्ट ने फौरन ही उनको सुरक्षा मुहैया करवा दी है। अब कोर्ट के भीतर ही उनको पुलिसकर्मी घेरे रहते हैं। इस वजह से वह अब पूरे जीजान से जुट गई हैं। उनका कहना है कि बात धर्म की नहीं, एक बच्ची को इंसाफ दिलाने की है जिसके लिए वो पीछे नहीं हटेंगी।

क्या है दरिंदगी का कठुआ कांड, जिसने हिला दिया पूरा देश

इसी साल 10 जनवरी को एक बच्ची आसिफा घोड़ों का चारा लेने कठुआ गांव में गई थी। वो वहीं से गायब हो गयी। 12 जनवरी को रिपोर्ट दर्ज की गई। 17 जनवरी को उसकी क्षतविक्षत लाश मिली। मामले की पड़ताल में पता चला कि सात लोगों ने उससे गैंगरेप किया और हत्या कर दी। इसमें पुलिसवालों से लेकर रिटायर्ड अफसर तक शामिल थे। इस घटना से ही देश में भूचाल आ गया..