newsdog Facebook

सीधे प्रधानमंत्री को पत्र भेज मांगी शौचालय निर्माण की राशि

Patrika 2018-08-07 11:11:41

पाली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सर्वाधिक महत्वाकांक्षी योजना
स्वच्छ भारत मिशन में दो साल से भुगतान में लेट-लतीफी हो रही हैं। आलम यह
है कि ग्रामीणों को पैसों के लिए सीधे प्रधानमंत्री से मांग करनी पड़ रही
है। सुमेरपुर पंचायत समिति के बांकली गांव की एक महिला ने मोदी को पत्र
लिखकर शौचालय का पैसा दिलाने का अनुरोध किया।


पाली जिला स्वच्छता मिशन में काफी अग्रणी है। यहां बड़ी तादाद में
शौचालयों का निर्माण हुआ है। ग्रामीणों ने घरों में शौचालय तो बना दिए,
लेकिन दो साल गुजर जाने के बाद भी उनके खातों में रुपए जमा नहीं हुए हैं।
लोगों ने रुपए के लिए प्रधानमंत्री तक पत्र लिखकर गुहार लगा चुके है।
प्रधानमंत्री तक पत्र लिखिने के बावजूद भी नतीजा सिफर ही रहा। लोग रुपए
के लिए पंचायत समिति व जिला परिषद के रोजाना चक्कर काट रहे है।


19 हजार 182 लोगों को अभी तक भुगतान नहीं हुआ
जिले में 2 लाख 43 हजार 662 शौचालय बने है। जिला परिषद के अधिकारियों का
कहना है कि जिन लोगों का बेस लाइन सर्वे में नाम है। उनको ही भुगतान
होगा। अधिकारियों के मुताबिक 2012 की बेस लाइन सर्वे में1 लाख 84 हजार
804 लोगों के शौचालय बने है। 1 लाख 65 हजार 622 लोगों को तो भुगतान हो
चुका है। लेकिन अभी भी 19 हजार 182 लोगों को भुगतान नहीं हो रहा है। जिला
परिषद के अधिकारी भी स्वीकारते है कि शौचालय के रुपए लाभार्थी के खाते
में जमा होने में विलंब हो रहा है।


जिले में इतने बने हैं शौचालय
स्वच्छ भारत मिशन योजन के तहत वर्ष 2013-2014 में 8 हजार 382, 2014-2015
में 49 हजार 489, 2015-2016 में 1 लाख 63 हजार 10, 2016-2017 में 22 हजार
787 शौचालय बने। कुल 2 लाख 43 हजार 662 शौचालय बने है। जिला परिषद के
अधिकारियों के मुताबिक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विकलांग, महिला
मुख्या, लघु सीमांत किसान व विधवा महिला को स्वच्छ भारत मिशन योजना के
तहत शौचालय निर्माण के लिए रुपए मिलेंगे।


पूरण कंवर ने लिखा प्रधानमंत्री को पत्र
सुमेरपुर पंचायत समिति के खिवांदी ग्राम पंचायत निवासी पूरण कंवर ने अपने
घर में शौचालय का निर्माण कराया। लेकिन अभी तक उनको भुगतान नहीं मिला है।
कंवर ने प्रधानमंत्री तक पत्र लिखकर रुपए देने की मांग की।


जल्द ही करेंगे लोगों को भुगतान
स्वच्छ भारत मिशन योजना में लोगों को भुगतान हो रहा है। जिन लोगों को
भुगतान नहीं हो रहा है। उनको जल्द ही भुगतान करवाने की व्यवस्था करेंगे।
-राजपालसिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद पाली