newsdog Facebook

करूणानिधि के अंतिम संस्कार में विभिन्न नेताओं की उपस्थिति से द्रमुक की राजनीतिक ताकत झलकती है

Rajasthan Khabre 2018-08-10 10:46:05

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नयी दिल्ली। तमिलनाडु के राजनीतिज्ञ कहे जाने वाले एम.करूणानिधि का मंगलवार शाम को लंबी बीमारी के बाद देहांत हो गया दक्षिण भारत के राजनीति के पितामह एम.करूणानिधि 94 साल के थे। एम. करूणानिधी का जन्म 3 जून, 1924 को हुआ था।  करूणानिधि ने अपनी अंतिम सांस अस्पताल में ली। एम.करूणानिधि के निधन की खबर सुनते ही पूरे तमिलनाडु राज्य में शोक की लहर छा गई। राजनीति के इस पितामह ने राजनीति के अलावा साहित्य और सिनेमा जगत में अपनी अमिट छाप छोड़ी। अंतिम संस्कार से पहले दक्षिण के राजनीति के चाणक्य का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शनों के लिए राजाजी हॉल में श्रद्धांज​लि देने के लिए रखा।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का रोड़ शो मार्ग तय, 13 किलोमीटर की यात्रा कर पहुंचेगे रामलीला मैदान 

आपको बता दें की करूणानिधि के अंतिम संस्कार में विभिन्न नेताओं की उपस्थिति से इस दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में द्रमुक की राजनीतिक ताकत झलकती है। तमिलनाडु में लोकसभा की 39 सीटें हैं। इसके बारे में नेताओं का कहना है कि उनकी यात्रा का उद्देश्य द्रविड़ राजनीति के इस दिग्गज नेता को श्रद्धांजलि अर्पित करना था लेकिन राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इसके मायने इससे कुछ अधिक हैं।'

गुरु की समाधि के पास एम. करुणानिधि हुए पंचतत्व में विलिन, प्रधानमंत्री भी पहुंचे अंतिम विदाई में

सूत्रों के अनुसार कई नेताओं का मानना है कि विभिन्न क्षेत्रीय और राष्ट्रीय दल करूणानिधि के उत्तराधिकारी एवं पार्टी प्रमुख एम के स्टालिन को लुभाने का प्रयास कर रहे हैं क्योंकि सहानुभूति लहर के चलते पार्टी के अधिक बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद है।

राहुल गांधी जयपुर में रोड़ शो कर विधानसभा चुनाव का करेंगे आगाज, इन मंदिरों से कर सकते है शुरूआत 

एम. करूणानिधि ​ने राजनीति में ही नहीं बल्कि सिनेमा जगत में भी छोड़ी अपनी छाप, ​मिल चुकी है 'कलेगनार' की उपाधि 

मोदी के टोपी पहने को लेकर थरूर का बयान बना राजनीतिक गलियारों में नया विवाद

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures