newsdog Facebook

आखिर राजस्थान में क्यों बदले जा रहे हैं मुस्लिम गांवों के नाम?

News Times India 2018-08-09 19:39:09

  • राजस्थान में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आता जा रहा है, वैसे-वैसे ही राज्य सरकार नए सियासी दांव चला रहा है. राजस्थान में अब हिंदू गांवों के मुस्लिम नाम बदले जा रहे हैं.

    राजस्थान सरकार के राजस्व विभाग की सिफारिश पर भारत सरकार ऐसे करीब 15 गाँव के नाम बदल रही है. और इसकी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. वहीँ सरकार ने पंचायत का हवाला देते हुए कहा कि यह सब गांव की पंचायत की सिफारिश पर यह सब किया जा रहा है. गांव के लोगों का कहना है कि उनकी ये मांग लंबे समय से थी जिसकी सुनवाई अब जाकर हो रही है.

    बता दें कि राजस्थान के बाड़मेर का 'मियां का बाड़ा' का नाम अब 'महेश नगर' हो गया है. 'मियां का बाड़ा' नाम के साइनबोर्ड हटाकर जिला कलेक्टर हर जगह 'महेश नगर' का साइन बोर्ड लगा रहे हैं. गांव के लोगों का कहना है कि मियां शब्द मुस्लिम लोगों के लिए प्रयोग होता है और बाड़ा मतलब रहने की जगह होती है ऐसे में ऐसा प्रतित होता था कि ये मुस्लिमों का गांव है जबकि केवल तीन घर में 21 लोगों की मुस्लिम आबादी है. अजमेर जिले के 'किसनगढ़ के सलेमाबाद' का नाम भी बदलकर श्री निंबार्क तीर्थ कर दिया गया है. सिर्फ यहीं दो नहीं ऐसे कई और गाँव है जिनके नाम बदले जा रहे हैं.

    हालांकि बीजेपी सरकार का यह बदलाव कांग्रेस को रास नहीं आया. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि बीजेपी हमेशा लोगों को सियासी फायदा लेने के लिए लोगों को बांटने का काम करती है. सवाल यह भी है कि क्या नाम बदल देने से राज्य में विकास हो जाएगा.