newsdog Facebook

बेंगलुरुः अब शादी में नहीं मिलेगा प्लास्टिक की बोतलों में पानी

Punjab Kesari 2018-09-13 12:18:12

नेशनल डेस्कः बेंगलोर में विवाह शादियों में अब न तो प्लास्टिक की बोतलों में पानी मिलेगा और न ही केलों के पत्ते पर खाना। ब्रुहत बेंगलुरु महानगर पालिका ने शहर में हरियाली और सफाई को बढ़ावा देने का फैसला किया है। पालिका ने वैडिंग हॉल को निर्देशित किया है कि वे शादियों व अन्य समारोह में बोतल बंद पानी व केले के पत्तों पर खाना परोसना बंद करें।



बेगलुरु मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक शहर में प्लास्टिक पर अंकुश लगाने के प्रयास में और विवाह शादी समारोह में वेस्टेज को कम करने के लिए बीबीएमपी ने सभी वैडिंग हॉल के प्रबंधकों को नोटिस जारी किया है। कि वे योजित होने वाले समारोह कार्यक्रमों में बदलाव करें। प्लास्टिक की बोतलों पर पाबंदी के साथ ही प्लास्टिक के गिलास, प्लेट पर भी अंकुश लगाने की बात कही है।



बीबीएमपी ने समारोह में स्टील के बर्तनों के इस्तेमाल की सिफारिश की है। पालिका ने सभी वैडिंग हॉल प्रबंधकों को इसे लागू करने के लिए 3 महीने का समय दिया है। इसके बाद निर्देश का पालन न करने वालों पर पालिका जुर्माना ठोकेगी।



बीबीएमपी ने कहा कि समारोह के आयोजन करने में प्लास्टिक पर पाबंदी लगाने के आदेख का पालन करने और वेस्टेज को अलग रखने की जरूरत है। उन्होंने निर्देश दिया है कि प्लेट बैंकों को स्टील की प्लेटों का पर्याप्त स्टॉक रखना चाहिए और प्लेट बैंक इस बात को भी समझें कि प्लेटों की धुलाई को हाइजैनिक रखा जाए।



पालिका की अधिसूचना में ये भी कहा गया है कि वैडिंग हॉल की ओर से आरओ की सुविधा उपलब्ध कराई जाए ताकि आने वाले अतिथियों को पानी की असुविधा न हो। वेस्टेज को सूखा रखकर बाहर कूड़ेदान मे फेंकना चाहिए। वैडिंग हॉल में भोजन परोसने के लिए केलों के पत्ते की जगह स्टील की प्लेटों का इस्तेमाल करें। बीबीएमपी के मुताबिक, गीला वेस्टेज सफाई में बाधा उत्पन्न करता है। पालिका ने निर्देश दिया गया कि वैडिंग और प्रवेंशन हॉल गीले और सूखे वेस्टेज को खपाने कि लिए खाद बनाने वाले प्लांट स्थापित करें।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!