newsdog Facebook

ब्राह्मण समाज' ने किया सबसे बड़ा ऐलान, 2019 में करेंगे इस बड़ी पार्टी का विरोध

Khabar aaj tak 2018-09-13 23:16:27

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका हमारे चैनल में। आप लोगों के लिए फिर से लेकर आ गया हूं एक और बहुत ही ख़ास खबर

हमारे भारत में दलितों के उत्थान के लिए sc/st कानून बनाया गया था. ताकि वो अपने अधिकार और मान सम्मान के हनन की स्थिति में कानून का सहारा लेकर सुरक्षित कर सके.

लेकिन वही समाज का एक बड़ा तबका इसके विरोध में है उसका कहना है की इस कानून की आढ़ में सवर्णो को नुकसान पहुंचाया जाता है. और ये बात काफी हद तक सही भी है. मुम्बई के एक सरकारी दफ्तर में कुछ अधिकारियों ने दो भिखारियों को दफ्तर में प्रवेश से माना किया तो वो लोग कानून का सहारा लेकर कटघरे में खड़े कर दिए गए. लेकिन बाद में पाया गया. यह आरोप सरासर गलत मढ़ा गया था.

इसके अलावा कई ऐसे केश सामने जो गलत पाए गए. जिसको लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती दिखाते हुए कहा. दलितों के लगाए गए आरोप की पूरी तरह से जाँच करके ही पुलिस गिरफ्तार करे. जिसके तहत दलितों ने सड़को पर उतरना शुरू कर दिया. लेकिन मोदी सरकार ने दलितों से कहा हम आपके कानून में कोई झेड़झाड़ नहीं करेंगे.

अब देखने वाली बात यह है समाज का एक सम्मानित और बड़ा हिस्सा ब्राह्मण नाराजगी दिखाने के लिए सड़को पर उतर आये है. ब्राह्मणो ने कहा अब हम वोट सिर्फ नोटा बटन पर देंगे. आपको बता दें की २०१४ के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को सवर्ण का ८५ प्रतिशत वोट मिला था. ऐसे में बीजेपी सरकार के लिए यह बेहद चिंतनीय का विषय है.