newsdog Facebook

राजस्थान में जब ट्रक पर नजर आया विमान, देखता रह गया हर कोई

Patrika 2018-09-14 09:42:03

श्रीगंगानगर। लालगढ़ जाटान की हवाई पट्टी पर 7 अगस्त को दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान के हिस्से ट्रकों में लादकर कम्पनी के सर्विस सेंटर भेजे गए हैं। उधर, विमान सेवा शुरू करने वाली कम्पनी सुप्रीम एयरलाइन्स इसे फिर शुरू करने की कवायद कर रही है। उल्लेखनीय है कि 7 अगस्त को यह विमान उस समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जब लैंडिंग कर रहा था।

 

हवाई पट्टी की दीवार से टकराया
दीवार तोड़ता हुआ विमान का अगला हिस्सा फेंसिंग से बाहर निकल गया था। जयपुर से चले इस विमान में सात यात्री और चालक दल के सदस्य थे, जो हादसे में बाल-बाल बचे। शुरुआती जांच के बाद नागर विमानन विभाग ने पायलट प्रियंक राय और शिवानी महलावत का लाइसेंस निलम्बित कर दिया था। 10 जुलाई को विमान सेवा शुरू हुई थी।

 

सुप्रीम एयरलाइन्स का विमान नियमित उड़ान पर शाम साढ़े पांच बजे लालगढ़ हवाई पट्टी पर पहुंचा था। लैंडिंग के दौरान विमान ने हवाई पट्टी को निर्धारित स्थान के बजाय काफी आगे आकर छुआ। इससे विमान की गति नियंत्रित नहीं हुई और वह हवाई पट्टी पर तेज गति से दौड़ता हुआ दीवार से जा टकराया।

 

पायलट का कहना था कि रनवे पर पक्षियों का झुंड बैठा होने से विमान ने निर्धारित स्थान से आगे जाकर रनवे को छुआ, जिससे विमान आगे जाकर दीवार से टकरा गया। दीवार के आगे बबूल के पेड़ का तना होने से विमान के अगले टायर के नीचे का हिस्सा उसमें फंस गया, जिससे विमान वहीं अटक गया।

 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दीवार के पास पेड़ का तना नहीं होता तो विमान दीवार को पार कर जाता। इससे विमान और ज्यादा क्षतिग्रस्त होता और उसमें आग भी लग सकती थी। दुर्घटना के समय इस छोटे विमान में यात्री शंकरलाल भाटी, सोहनलाल सिहाग, मेघना गर्ग, हरजिंदर सिंह, सुखविन्द्र कौर, डॉ. सानिया शर्मा और श्रेयांश शर्मा सवार थे।

 

यात्रियों में अफरा-तफरी
विमान में सवार एक यात्री का कहना था कि विमान के दीवार से टकराने पर तेज आवाज हुई और उन्हें जोर का झटका लगा। बाहर का दृश्य देखकर सभी यात्री घबरा गए। तब दोनों पायलट ने स्थिति नियंत्रण में होने का कहकर सभी का ढाढ़स बंधाया। दुर्घटना के बाद वहां मौजूद फायर ब्रिगेड और एम्बुलेंस के कर्मचारियों ने यात्रियों को नीचे उतारा। विमान के दीवार से टकराने से आगे का हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है। विमान के आगे के हिस्से में लगा पंखा टूटकर दूर जा गिरा। विमान के इंजन को भी काफी नुकसान पहुंचा है।