newsdog Facebook

रेत परिवहनकर्ताओं को सरपंच से लेकर स्थानीय गुंडों का खौफ,रेत ट्रांसपोर्टरों ने लगाया अवैध वसूली का आरोप

Haribhoomi 2018-09-14 11:16:21
छत्तीसगढ़ रेत परिवहन संघ के नेताओं ने स्थानीय स्तर पर पंच, सरपंच, ग्राम सचिव के साथ स्थानीय नेताओं पर जबरन वसूली करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में पचपेढ़ी नाका स्थित एक होटल में बैठक कर अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए रेत परिवहन में आने वाली समस्याओं के निराकरण से संबंधित चर्चा की।       बैठक में प्रदेशभर से रेत परिवहन संघ से जुड़े 70 से ज्यादा ट्रांसपोर्टर शामिल हुए। बैठक रेत परिवहन संघ के अध्यक्ष गिरधारी लाल सोनवानी और उपाध्यक्ष हनीफ निजामी के नेतृत्व में हुई। बैठक में तीन बिंदुअों पर जुर्माना वसूली की भी चर्चा की गई।       रेत ट्रांसपोर्टिंग से जुड़े कारोबारियों ने बैठक में तीन बिंदुओ में जुर्माना वसूली में विसंगति का आरोप लगाते हुए अतिरिक्त परिवहन आयुक्त ओपी पाल को एक ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में ट्रकों में ओवरलोडिंग रोकने त्रि-बिंदु जुर्माना वसूली का प्रावधान किया गया है।       इसके तहत ओवरलोड होने पर वाहन मालिक के अलावा चालक और लोडिंगकर्ता पर भी जुर्माना लगाने का प्रावधान है। ट्रांसपोर्टरों ने आरोप लगाया है कि आरटीओ केवल वाहन मालिकों पर भारी-भरकम जुर्माना कर वाहन को छोड़ देते हैं।       ट्रांसपोर्टरों का आरोप है कि स्थानीय स्तर पर लोडिंग करने के लिए पंचायत जिम्मेदार है, लेकिन आरटीओ उन पर कोई कार्रवाई नहीं करती, जिसकी वजह से रेत के ओवरलोडिंग का खेल चल रहा है। ट्रांसपोर्टरों ने रेत के ओवरलोड होने पर अन्य लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

कई गुना ज्यादा जुर्माना वसूली का आरोप

रेत परिवहन संघ ने परिवहन विभाग पर अंडरलोड ट्रकों को ओवरलोड बताकर जुर्माना वसूली के अलावा अवैध वसूली करने का आरोप लगाया है। परिवहन संघ ने रसीद मांगे जाने पर आरटीओ अधिकारियों पर बदसलूकी करने का आरोप लगाया है। इसे देखते हुए जहां-जहां रेत उत्खनन होता है, वहां धर्मकांटा लगाने की मांग की है। साथ ही अवैध वसूली पर रोक लगाने की मांग की है।

सवा करोड़ से ज्यादा हो रही वसूली

रेत ट्रांसपोर्ट संघ के अध्यक्ष के मुताबिक रेत खदान में एक ट्रक रेत की कीमत सात सौ से नौ रुपए के बीच है। इसके विपरीत स्थानीय प्रशासन रेत कारोबारियों से प्रति ट्रक ढाई से तीन हजार रुपए की वसूली कर रहे हैं। इस लिहाज से प्रतिदिन पंचायत स्तर पर 40 लाख रुपए से अधिक की अवैध वसूली हो रही है, जो महीने में सवा करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि है। इस वसूली के अलावा रेत ट्रांसपोर्टरों ने स्थानीय गुंडे, बदमाश, नेता और पुलिसकर्मियों पर जबरन वसूली करने का आरोप लगाया है।

आम उपभोक्ताओं पर असर

रेत में अवैध वसूली के इस खेल का सीधा असर आम उपभोक्ताओं को पड़ रहा है। वर्तमान में एक रेत की कीमत छह हजार रुपए व्यापारी वसूल रहे हैं। अवैध वसूली के चलते उपभोक्ताओं को प्रति ट्रक रेत की कीमत ढाई हजार रुपए अतिरिक्त चुकाना पड़ रहा है। जानकारों की मानें तो प्रशासन को भी इस बात की जानकारी है, लेकिन प्रशासन ने अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है।

अंडरलोड पर कार्रवाई नहीं करते

हम किसी भी अंडरलोड वाहनों पर कार्रवाई नहीं करते, जो भी रेत की ओवरलोड ट्रकें मिलेंगी, हम उस पर कार्रवाई करेंगे। इसके तहत हम उनका परमिट भी निरस्त करने की कार्रवाई करेंगे। जो घाट वाले ओवरलोड करने दबाव बना रहे हैं, उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।   - पुलक भट्टाचार्य, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, रायपुर।