newsdog Facebook

सरकारी बैंक ने 21 गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों से 1,320 करोड़ रुपये की वसूली

Polkhol India 2018-09-14 11:23:50

सरकारी बैंक ने 21 गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (फंसे हुए कर्जे या एनपीए) से 1,320 करोड़ रुपये की वसूली के लिए, उन खातों की ई-बिडिंग बोली प्रक्रिया द्वारा बिक्री करने की योजना बनाई है, जिसे इस माह के अंत में आयोजित किया जाएगा। पीएनबी ने इस हफ्ते की आरंभ में एक अधिसूचना में बोला था कि उसका तनावग्रस्त परिसंपत्तियां लक्षित निवारण कार्रवाई (एसएएसटीआरए) खंड इन 21 खातों की बिक्री के लिए बोली आमंत्रित करेगा, जिसमें बैंक का कुल 1,320.19 करोड़ रुपये फंसा हुआ है।

पीएनबी ने कहा, “हम इन खातों की बिक्री एआरसी (संपत्ति पुननिर्माण कंपनियों)/एनबीएफसी(गैर वित्तीय सेवा कंपनियों)/अन्य बैंकों/एफआई (वित्तीय संस्थानों) आदि को करेंगे वइसकी बिक्री बैंक की नीतियों व शर्तो के तहत की जाएगी, जिसमें नियमकीय दिशा निर्देशों का भी ध्यान रखा जाएगा। ” पीएनबी के एक प्रवक्ता ने गुरुवार को बोला कि इसकी बोली केवल ई-नीलामी के माध्यम से ही लगाई जा सकेगी, जो कि बैंक के पोर्टल पर 20 सितंबर को आयोजित की जाएगी।

बैंक द्वारा की जा रही एनपीए खातों की बिक्री में मोजर बियर सोल के खाते में 233.06 करोड़ रुपये, डिवाइन अलॉयज एंड पॉवर को। के खाते में 200.87 करोड़ रुपये, चिंचोली सुगर एंड बायो इंडस्ट्रीज के खाते में 114.42 करोड़ रुपये, अरसिया नार्थन एफटीडब्ल्यूजेड लि। के खाते में 96.70 करोड़ रुपये, बिरला सूर्या के खाते में 73.58 करोड़ रुपये, श्री सैकरुपा सुगर एंड अलायड इंडस्ट्रीज के खाते में 63.35 करोड़ रुपये व राजा फोर्जिग एंड गीयर्स लि। के खाते में 59.73 करोड़ रुपये बकाया है।

इनमें अन्य प्रमुख कर्जदारों में टेंपलटन फूड्स के खाते में 53.17 करोड़ रुपये, रथी इस्पात के खाते में 45.48 करोड़ रुपये व जैन ओवरसीज के खाते में 33.41 करोड़ रुपये बकाया है।