newsdog Facebook

खनन माफियाओं के हौसले बुलंद, एसडीएम और नायब तहसीलदार पर जानलेवा हमला, दर्ज हुआ मुकदमा

Patrika 2018-10-09 09:39:09

महोबा. उत्तर प्रदेश में पुलिस और प्रशासन से बेख़ौफ़ खनन माफियाओं का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। यूपी के जालोन में सीओ के साथ घेराबंदी कर मारपीट के बाद महोबा में दबंग खनन माफिया ने अवैध खनन पर लगाम लगाने वाली स्पेशल टॉस्क फोर्स की टीम पर जानलेवा हमला कर पुलिस और प्रशासन को सकते में ला दिया है। अवैध बालू से लदे ट्रेक्टर को पकड़ने के दौरान माफिया ने अपनी मारुति कार से ओवरटेक कर एसडीएम नायब तहसीलदार के वाहन को खाई में गिराने का प्रयास करते हुए जान से मारने की कोशिश की है। एसडीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल पुलिस फोर्स बुला आरोपी को गिरफ्तार कराने में सफलता हासिल की है। खनन टॉस्क फोर्स टीम के साथ भारी पुलिस प्रशासन को देख आरोपी के अन्य साथी मौके का फायदा लेकर फरार हो गए है।

महोबा के पनवाड़ी थाना क्षेत्र में खनिज विभाग द्वारा निजी भूमि के खनन पट्टे स्वीकृत किये गए हैं। खनन माफिया जल्द से जल्द अमीर बनने की लालच में बड़े पैमाने पर अवैध बालू खनन के कारोबार को अंजाम देने में लगे हुए हैं। शासन प्रशासन के तमाम निर्देशों के बाद भी पुलिस और प्रशासन से बेख़ौफ़ बालू खनन माफिया रात-दिन अवैध बालू का खनन करने में जुटे हुये हैं। पनवाड़ी के वराना घाट से अवैध बालू के परिवहन की सूचना मिलते ही एसडीएम जंग बहादुर यादव, नायब तहसीलदार लखन लाल राजपूत ने पुलिस जवानों के साथ अवैध बालू से भरे ट्रैक्टर को रोकने का प्रयास किया। पुलिस और प्रशासन द्वारा ट्रेक्टर को रोकने की लोकेशन मिलते ही खनन माफिया मदन पाल सिंह अपनी मारुति आल्टो से आ धमका ओर प्रशासनिक आलाधिकारियों को गाली गलौज के साथ अभद्रता करने लगा। साथ ही अपनी कार से ओवरटेकिंग कर एसडीएम और नायब तहसीलदार के चार पहिया वाहनों को खाई में गिराने की कोशिश की है। इस बड़ी घटना को लेकर कुलपहाड़ एसडीएम ने डीएम महोबा से बात कर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। तहसीलदार सुबोध मणि शर्मा ने अंदेशा जताया है कि खनन माफिया के साथ और भी तमाम साथी इधर-उधर छिपे हुए थे। पुलिस बल को देख सभी भाग खड़े हुए हैं। यह खनन माफिया पहले भी कुलपहाड़ के पूर्व सीओ संदीप यादव से मारपीट कर चुका है।