newsdog Facebook

इस बीमारी से जा सकती है लालू प्रसाद यादव की याददाश्त

First Post 2018-10-09 17:32:00

लालू प्रसाद अनियंत्रित डायबिटीज के चलते डायबिटिक ऑटोनोमिक न्यूरोपैथी के शिकार हो गए हैं

रिम्स में भर्ती आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद अनियंत्रित डायबिटीज के चलते डायबिटिक ऑटोनोमिक न्यूरोपैथी के शिकार हो गए हैं. यह बीमारी इतनी खतरनाक है कि अगर समय रहते इस पर काबू नहीं पाया गया. तो धीरे-धीरे रोगी की मेमोरी लॉस यानी याददाश्त खो सकती है.

आरजेडी सुप्रीमो पहले से ही किडनी, हार्ट, प्रोस्टेट, बीपी, सहित कई तरह की समस्याओं से जूझ रहे हैं. अब डायबिटिक ऑटोनोमिक न्यूरोपैथी के चलते उन्हें बार-बार चक्कर आ रहा है. सबसे परेशानी की बात यह है कि उनका ब्लड शुगर तमाम कोशिशों के बावजूद नियंत्रण में नहीं आ रहा है.

रिम्स के मनोरोग विभाग के एचओडी डॉ अशोक प्रसाद का कहना है कि डायबिटिक ऑटोनॉमिक न्यूरोपैथी में चक्कर आने के चलते रोगी के अचानक गिरने का खतरा रहता है. इससे गंभीर चोटें लग सकती हैं. धीरे- धीरे मरीज की मेमोरी भी कम हो जाती है.

पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य को लेकर रिम्स के चिकित्सकों की चिंता इसलिए भी ज्यादा है, क्योंकि पहले से ही वे किडनी फेल्योर के स्टेज 3 के मरीज हैं. दिल सहित कई तरह की बीमारियों से जूझ रहे हैं. ऐसे में अगर डायबिटीज कंट्रोल नहीं हुआ, तो न्यूरोपैथी रोग बढ़ता चला जाएगा और उनकी याददाश्त पर इसका बुरा असर होगा.

इसी बीच परिवार में भी बढ़ रही हैं परेशानियां

हालांकि इसी बीच लालू यादव का पारिवारिक विवाद भी धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है. लालू की बड़ी बेटी मीसा भारती ने खुद इस बात का जिक्र किया था. हालांकि मीडिया में मामला आने के बाद मीसा ने अपने बयान पर सफाई पेश की.

दरअसल मीसा ने पहले कहा था, 'जिस तरह से हाथ की पांचों अंगुलियां बराबर नहीं होती वैसे ही ऊंच-नीच की बातें आती रहती हैं. थोड़ी बहुत खटपट तो चलती ही रहती है. हमारे परिवार में ही भाई-भाई में नहीं पटती.' हालांकि मामला गर्माने के बाद मीसा ने कहा कि उनके बयान को तोड़ मोड़ कर पेश किया गया है.