newsdog Facebook

क्रिकेट के दामन पर भी लगा #MeToo का दाग, दिग्गज खिलाड़ी पर भारतीय एयरहोस्टेस ने लगाए गंभीर आरोप

Patrika 2018-10-10 20:54:48

नई दिल्ली। महिलाओं पर हुए यौन शोषण के संगीन अपराध पर चल रहे #MeToo कैंपेन की शुरुआत तो काफी पहले हो गई थी। लेकिन भारत में इस कैंपेन तब जोड़ पकड़ा जब बॉलीवुड अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर गंभीर आरोप लगाए। तनुश्री के आरोप के बाद भारत में कई और महिलाओं ने इस कैंपेन के तहत चौंकाने वाले खुलासे किए। अब आलम यह है कि सिने जगत से शुरू हुए इस कैंपेन की जद में मीडिया, राजनीति और खेल की दुनिया के भी कई नामचीन सितारे आरोपित हो चुके हैं। भारत में धर्म का दर्जा प्राप्त कर चुकी क्रिकेट की दुनिया भी अब इससे अछुती नहीं रही है।

देश को विश्व विजेता बनाने वाला कप्तान-
बुधवार को भारत की एक एयरहोस्टेस ने दिग्गज इंटरनेशनल क्रिकेटर पर इस कैंपेन के तहत संगीन आरोप लगाए। ये वो क्रिकेटर हैं, जिनकी कप्तानी में देश को विश्व चैंपियन बनने का रूतबा हासिल हुआ। इस क्रिकेटर ने अपने करियर में कई यादगार पारियां खेली। लिहाजा उनको चाहने वाले लोगों की संख्या लाखों में है। लेकिन भारतीय एयरहोस्टेस के इस खुलासे के बाद उनका कैरेक्टर दागदार हो गया है।

 

श्रीलंका के पूर्व कप्तान पर आरोप-
जिस क्रिकेटर के चलते इस खेल का दामन दागदार हुआ है, वो भारत नहीं बल्कि पड़ोसी देश श्रीलंका के हैं। श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा पर भारत की एक एयरहोस्टेस ने यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है। 1996 में अपनी कप्तानी में श्रीलंका को वर्ल्ड चैंपियन बना चुके रणतुंगा पर जबरदस्ती करने की कोशिश का आरोप लगाया है।

फेसबुक पोस्ट पर लिखी दर्द-
भारतीय महिला ने फेसबुक पर पोस्ट लिखते हुए यह आरोप लगाया है। अपनी पोस्ट में महिला ने लिखा कि मुंबई के जुहू होटल में मेरी दोस्त को भारतीय और श्रीलंकाई क्रिकेटर दिखे। हम उनसे ऑटोग्राफ लेने गए। इस दौरान हमें ड्रिंक ऑफर की गई। लेकिन मैंने अपनी पानी की बोतल निकाल ली। मेरी दोस्त भारत के एक क्रिकेटर के साथ स्विमिंग पुल की ओर चली गई। इसके बाद रणतुंगा ने मेरी कमर पकड़ी और मेरे शरीर को छूने लगे। रणतुंगा के इस काम से मैं बुरी तरीके से घबरा गई। मैंने उनके पैर पर लात मारते हुए वहां से भाग निकली। होटल रिसेप्शन पर पहुंच कर मैंने इस मामले की शिकायत भी की। लेकिन निजी मामला बता कर होटल वालों ने मेरी मदद नहीं की।