newsdog Facebook

गुजरात हिंसा पर पहली बार पीएम मोदी का बयान आया सामने

NEWS ARYAVARTA 2018-10-11 20:52:49

वर्तमान समय में गुजरात में उत्तर भारतीयों के प्रति हो रही हिंसा और पलायन को लेकर पूरे देश में रोष जारी है। बताते चलें कि कुछ दिन पहले गुजरात में एक 14 माह की बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले में उत्तर भारतीयों के साथ लगातार हिंसा जारी है। हालांकि गुजरात सरकार काफी समय पहले ही लोगों को इस तरह की घटनाओं पर नियंत्रण लगाने का विश्वास दिला चुकी है। लेकिन हाल ही में केंद्र सरकार ने गुजरात सरकार को कड़े निर्देश दिए हैं, इसके अलावा पीएम मोदी ने भी गुजरात हिंसा पर बड़ा बयान दिया है।
दरअसल गुजरात में जो कुछ भी हो रहा है भाजपा नेतृत्व उससे बिल्कुल भी खुश नहीं है। क्योंकि भाजपा नेतृत्व का मानना है कि गुजरात में हो रही हिंसा और पलायन के चलते उसे छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनावों में बड़ा नुकसान हो सकता है। यही वजह है कि अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में विजय रुपाणी को जल्द से जल्द इस पर नियंत्रण पाने के आदेश दिए हैं।

वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री मोदी पहली बार गुजरात हिंसा और गुजरात पलायन पर सबके सामने आए। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस की एक बड़ी साजिश है, क्योंकि वह समाज बांटने वाले लोग हैं। वह इस तरह की हिंसा फैला कर अपना उल्लू सीधा करते हैं। उनका मकसद सिर्फ एक है, समाज बांटो और शासन करो। हम तो जोड़ने वाले लोग हैं। गौरतलब है कि हिंसा में कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर का नाम सामने आया था। जबकि अल्पेश ठाकोर की ठाकोर सेना के 500 से भी अधिक कार्यकर्ता गिरफ्तार किए गए हैं।

हालांकि यह तो स्पष्ट है कि अब राज्य सरकार की तरह केंद्र सरकार भी जल्द से जल्द गुजरात में हो रही हिंसा को रोकने के लिए प्रयत्नशील है। क्योंकि इससे भाजपा को ही बड़ा नुकसान होने वाला है। हालांकि यह देखने वाली बात होगी कि इस हिंसा से किस राजनीतिक पार्टी को फायदा तथा किस राजनीतिक पार्टी को नुकसान हो सकता है? साथ ही क्या आप प्रधानमंत्री मोदी के इस बयान से सहमत हैं? इस बारे में कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही हमारे चैनल को फॉलो करें।