newsdog Facebook

हेप्टाथलीट स्वप्ना बर्मन को एडिडास सभी सात स्पर्धाओं के लिए देगा जूते

Polkhol India 2018-11-07 10:37:48

एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतकर अपने आलोचकों को करारा जवाब देने वाली हिंदुस्तान की पहली हेप्टाथलीट स्वप्ना बर्मन को एडिडास सभी सात स्पर्धाओं के लिए अलग-अलग जूते देगा। खेल सामग्री बनाने वाली कंपनी एडिडास ने स्वप्ना के साथ एक करार किया है। स्वप्ना के दोनों पैरों में छह-छह उंगलियां हैं व इस कारण उनके लिए बनने वाले जूते भी विशेष होंगे, जो उनके पैरों को पूरा समर्थन देंगे।

एडिडास स्वप्ना की कठिनाई का हल निकालने के लिए हिंदुस्तान में अपने अधिकारियों व जर्मनी में अपने मुख्यालय में एथलीट सर्विसेज लैब के साथ पिछले दो महीने से कार्य कर रहा था। कंपनी ने स्वप्ना के पैर के आंकलन के बाद उनके लिए विशेष जूता तैयार करने का निर्णय किया।

ऐशियाई खेलों में गोल्ड जीतकर चर्चा में आईं थी स्वप्ना
पश्चिम बंगाल की रहने वाली स्वप्ना उस समय सुर्खियों में आई थी जब उन्होंने अगस्त में एशियाई खेलों में सात दौर के कड़े मुकाबले में कुल 6,026 अंक हासिल कर गोल्ड मेडल जीता था। यह उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी रहा। उन्होंने इस दौरान न सिर्फ वित्तीय बाधाओं को पार किया बल्कि अपने दोनों पैरों की छह-छह अंगुलियों की परेशानियों को भी मात दी थी।

स्वप्ना को प्रयोगशाला बुलाकर उनके पैरों का आंकलन किया था
स्वप्ना ने हाल में जर्मनी में एडिडास के खिलाड़ी सेवा प्रयोगशाला का भी दौरा किया था, जहां उनके पैरों का आंकलन किया गया था। स्वप्ना ने एडिडास के साथ करार के बाद कहा, “एडिडास परिवार के साथ जुड़ना किसी भी खिलाड़ी के लिए सम्मान की बात है। मेरा सपना ओलम्पिक में हिंदुस्तान के लिए स्वर्ण जीतना है। इस सपने को पूरा करने के लिए मैं कड़ी मेहनत कर रही हूं।मुझे विश्वास है कि एडिडास के योगदान से मैं एक एथलीट के रूप में अपने प्रदर्शन में व ज्यादा सुधार कर पाऊंगी। ”

एडिडास इंडिया के वरिष्ठ विपणन निदेशक सिएन वेन वाइक ने कहा, “एडिडास का मानना है कि खेलों के माध्यम से हमारे पास लोगों की जिंदगी बदलने की शक्ति है। स्वप्ना इसका एक अच्छा उदाहरण है। एडिडास परिवार से जुड़ने पर हम स्वप्ना का स्वागत करते हैं। ”

ओलंपिक के लिए टॉप्स स्कीम में शामिल हैं स्वप्ना 
स्वप्ना को पिछले वर्ष सितंबर में गवर्नमेंट की टॉप्स स्कीम में शामिल किया गया था। टॉप्स स्कीम में उन खिलाड़ियों को शामिल किया जाता है, जो ओलंपिक में पदक जीत सकते हैं।   पैरों में छह-छह उंगलियों के कारण स्वप्ना को सामान्य जूते पहनने में दिक्कत होती है। व दौड़ने या खेलने से उनकी कठिनाई व बढ़ जाती है। वे अक्सर दर्द से जूझती रहती हैं। एशियन गेम्स में मेडल जीतने के बाद उन्होंने अपना दर्द साझा किया था।