newsdog Facebook

Mp election 2018: सरताज ने खरीदा नामांकन फार्म, कांग्रेस से लड़ेंगे चुनाव!

Patrika 2018-11-08 12:22:31

होशंगाबाद। पूर्व मंत्री एवं सिवनी मालवा से विधायक सरताज सिंह का कांग्रेस में जाना लगभग तय हो गया। कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के कहने पर गुरुवार को सरताज सिंह ने नामांकन फार्म खरीद लिया। साथ ही बैंक में खाता भी खुलवा लिया। इससे पहले वे सभी विभागों से एनओसी भी ले चुके हैं। माना जा रहा है कि शुक्रवार को वे नामांकन फार्म जमा कर देंगे। आज रात तक उनके कांग्रेस में शामिल होने की अधिकृत घोषणा भी हो सकती है। सिंह सिवनी मालवा से भाजपा द्वारा टिकट कटने से नाराज चल रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी उन्हें मनाने का प्रयास किया।
पूर्व मंत्री सरताज सिंह कि कई दिनों से कांग्रेस में जाने की अटकलें लग रही हैं। गुरुवार को उनकी गतिविधियों से यह पुख्ता भी हो गई। सिंह कांग्रेस के नेताओं के साथ नजर आए। वे पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक कांग्रेसी नेता राजेंद्र ठाकुर के साथ भारतीय स्टेट बैंक पहुंचे। यहां उन्होंने अपना खाता खुलवाया। इसके बाद ठाकुर उनके लिए नामांकन फार्म लेने जिला निर्वाचन कार्यालय पहुंचे। उन्होंने सरताज सिंह के लिए नामांकन फॉर्म खरीदा। ठाकुर ने बताया कि वरिष्ठ नेताओं के निर्देश पर वे सरताज जी के लिए फार्म खरीदने आए हैं। सिंह की जो भी बात हुई है वह वरिष्ठ नेताओं से हुई है।

सूत्र बताते हैं कि गुरुवार रात या शुक्रवार सुबह सरताज सिंह के कांग्रेस में शामिल होने की अधिकृत घोषणा कर दी जाएगी। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी उन्हें कांग्रेस में लेने और टिकट देने पर सहमति दे दी है। भाजपा से टिकट कटने की संभावनाओं के बीच ही सरताज सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के संपर्क में थे। इस कारण बार-बार उनके कांग्रेस में जाने की खबरें आ रही थी। लेकिन वे इससे इनकार कर देते थे। आज के घटनाक्रम के बाद अब लगभग साफ हो चुका है सरताज सिंह कांग्रेस की तरफ से भाजपा के दिग्गज नेता एवं विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा से मुकाबला करेंगे। उनके कांग्रेस में जाने से संसदीय क्षेत्र में भाजपा को नुकसान उठाना पड़ सकता है। सरताज के आने से संभाग में कांग्रेस मजबूत होगी। अभी तक कांग्रेस के पास विधानसभा अध्यक्ष को टक्कर देने वाला उम्मीदवार नहीं था, जिसकी कमी सरताज के आने से पूरी हो जाएगी।

 

मनाने पहुंचे थे शिव
सरताज सिंह ने पहले ही टिकट नहीं मिलने पर भाजपा से बगावत करने के संकेत दे दिए थे। उनके बयान आते ही उन्हे मनाने के प्रयास तेज हो गए थे। बताया जाता है कि उन्हे मनाने के लिए खनिज निगम अध्यक्ष शिव चौबे पहुंचे हैं। जिनकी सरताज सिंह से चर्चा हुई। शिव चौबे ने कई मामलों में मध्यस्ता करई है। चौबे का सीएम शिवराज का करीबी भी माना जाता है।

60 साल से पार्टी में हूं...एक बार चर्चा कर लेते मुझसे
75 की उम्र के फार्मूले पर मेरा नाम काटा जा रहा है। एक बार चर्चा कर लेते मुझसे। आखिर, मैं भी पार्टी में वरिष्ठ तो हूं ही। 60 साल से पार्टी में कार्य कर रहा हूं बातचीत हो जाती तो ज्यादा अच्छा रहता। मैं भी उन्हें अच्छे सुझाव दे पाता। पार्टियां आपसी तालमेल और बातचीत से चलती है। बातचीत का संबंध टूट जाए तो उससे पार्टी को लाभ नहीं होता है। इस संबंध में मेरी दिल्ली में भी किसी से बात नहीं हुई।
ब्रेक कर दो