newsdog Facebook

अब तो भाजपा टिकट देगी तो भी भाजपा से नहीं लडूंगा चुनाव -सरताज सिंह

Patrika 2018-11-08 21:20:42

इटारसी। भाजपा के दिग्गज नेता सरताज सिंह ने अधिकृत तौर पर भाजपा का दामन छोड़ दिया और कांग्रेस पार्टी में चले गए हैं। उन्होंने कहा कि अब यदि भाजपा टिकट देगी तो वह भाजपा को टिकट वापस करने कांग्रेस से ही चुनाव लड़ेंगे।
होटल तवा प्लाजा में सरताज सिंह ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि 9 नवंबर को होशंगाबाद में कांग्रेस से नामांकन दाखिल करेंगे। नामांकन भरने की आखिरी तारीख के कुछ घंटे पहले यह तय हो गया है कि कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में होशंगाबाद-इटारसी विधानसभा से सरताज सिंह भाजपा के सामने होंगे।

सरताज से सवाल-जवाब
सवाल - आपने भाजपा क्यों छोड़ दी।
जवाब- मुझे अपमान की जिंदगी स्वीकार नहीं है और ना ही मैं घर बैठने वालों में से हूं। जब तक सांस है, मैदान में रहकर जनता की सेवा करेंगे।
सवाल - विधानसभा के अध्यक्ष और भाजपा प्रत्याशी के रूप में डॉ. सीतासरन शर्मा के सामने जीत के क्या आसार हैं।
जवाब- चुनाव तो युद्ध की तरह होता है, मैंने अभी हार और जीत का कोई हिसाब नहीं लगाया है। डॉ. शर्मा अजेय योद्धा हैं तो सिवनी मालवा चुनाव लडऩे गया था तो वहां हजारीलाल रघुवंशी भी अजेय योद्धा थे। वे चुनाव लडऩे जा रहे हैं, हारना या जीतने के बारे में नहीं सोचा है।
सवाल- यदि भाजपा सिवनी मालवा से आपको प्रत्याशी बना दे तो?
जवाब- भाजपा से सबकुछ खत्म हो चुका है, शुक्रवार को नामांकन भरने जा रहे हैं।

- कांग्रेस का गमछा पहना
होटल तवा प्लाजा से बाहर निकलते ही होटल में मौजूद कांग्रेसियों ने उनके समर्थन में जमकर नारेबाजी की। इस दौरान उन्हें कांग्रेस गमछा पहनाया गया। इस दौरान राजेन्द्र सिंह ठाकुर, नगर कांग्रेस अध्यक्ष पंकज राठौर, योगेश त्रिवेदी, मुकेश गांधी, नंदू साहू, सम्राट तिवारी, मयूर जैसवाल, अर्जुन भोला, गोल्डी बैस, शरद बामने, सौम्या दुबे, हिमांशु बाबू अग्रवाल, विश्वामित्र तिवारी के अलावा अब तक भाजपा के साथ दिखने वालों में पूर्व पार्षद अनिल यादव, यशवंत गौर, कर्मवीर गांधी, सत्येन्द्रपाल सिंह जग्गी मौजूद थे।

- मनाने आए थे संभागीय संगठन मंत्री
तवा प्लाजा में भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री श्याम महाजन और बैतूल विधायक तथा संभागीय प्रभारी हेमंत खंडेलवाल सरताज सिंह को मनाने पहुंचे थे। यहां करीब १५ मिनट दोनों ने सरताज सिंह से चर्चा की जब वह नहीं माने तो वह वापस चले गए। खंडेलवाल ने बताया कि सरताज सिंह के निर्णय से हाईकमान को अवगत करा दिया है।