newsdog Facebook

पिता का बदला लेने शाम को ज्वाइन की बीजेपी, रात को मिल गई टिकट

Patrika 2018-11-09 14:05:30

 

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की उत्तर विधानसभा सीट पर इस बार मुकाबला दिलचस्प रहेगा। यह सीट कांग्रेस की पारंपरिक सीट है, जिसे बीजेपी एक बार ही छीन पाई थी। अब बीजेपी ने यहां से कांग्रेस के दिवंगत नेता रसूल अहमद सिद्दीकी की बेटी फातिमा को चुनाव मैदान में उतारा है। फातिमा कांग्रेस के बुजुर्ग आरिफ अकील से मुकाबला करेंगी।

उत्तर विधानसभा क्षेत्र से 80 और 85 में कांग्रेस के टिकट पर दो बार विधायक रहे रसूल अहम सिद्दी की बेटी बीजेपी में शामिल हो गई हैं। उन्होंने गुरुवार शाम को भाजपा ज्वाइन की और तीन घंटे बाद रात को ही उन्हें बीजेपी ने उत्तर भोपाल का टिकट दे दिया। अब वे वर्तमान कांग्रेस विधायक एवं पूर्व मंत्री आरिफ अकील का मुकाबला करेंगी।

 

कौन है फातिमा
उत्तर भोपाल से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने वाली फातिमा कांग्रेस के पुराने नेता स्व. रसूल अहमद सिद्दीकी की बेटी हैं। फातिमा ने गुरुवार शाम को ही भाजपा की सदस्यता ली और रात को बीजेपी ने उन्हें टिकट दे दी। 90 के दशक में उनके पिता रसूल अहमद सिद्दीकी दो बार कांग्रेस से विधायक रह चुके हैं। 1993 में आरिफ अकील ने जनता दल से चुनाव लड़े थे। इसमें बीजेपी के रमेश शर्मा चुनाव जीत गए थे। कांग्रेस के सिद्दीकी की बुरी तरह हार हुई थी। इसके बाद अकील खुद भी कांग्रेस में शामिल हो गए थे। तब से लेकर अब तक आरिफ अकील को कोई हरा नहीं पाया।

 

पिता का बदला लेगी फातिमा
फातिमा के बारे में कहा जा रहा है कि वो पिता की हार का बदला लेने के लिए कांग्रेस छोड़ बीजेपी मे शामिल हुई हैं। क्योंकि आरिफ अकील ने निर्दलीय चुनाव जीतकर उनके पिता को हरा दिया था।


कुछ दिन पहले से लग रही थी अटकलें
हाल ही में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और सुहास भगत ने फातिमा से मुलाकात की थी। तभी से फातिमा सिद्दीकी (गुड़िया) के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें काफी दिनों से चल रही थी।


ये भी थे लाइन में
इससे पहले भाजपा की तरफ से उत्तर विधानसभा चुनाव लड़ने की जुगत में मध्यप्रदेश वक्फ बोर्ड के चेयरमैन शौकत मोहम्मद खान भी थे। हालांकि बीजेपी ने फातिमा को टिकट देकर अटकलों का दौर खत्म कर दिया।


यह भी है उलट-फेर
इधर, काफी दिनों से चला आ रहा गोविंदपुरा का संकट भी टल गया। यहां से बाबूलाल गौर की सीट से उनकी पुत्र वधू कृष्णा गौर चुनाव लड़ने वाली हैं।
-कांग्रेस ने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को बुदनी से टिकट दिया है। वे नामांकन दाखिल करने वाले हैं।

 

बगावत के डर से बदल दिए प्रत्याशी
बग़ावत के डर से कांग्रेस ने कई प्रत्याशियों के टिकट काट दिए हैं।
-कांग्रेस ने मानपुर से तिलक राज सिंह की जगह ज्ञानवती सिंह को टिकट दिया है।
-इंदौर-1 से प्रीति अग्निहोत्री के स्थान पर संजय शुक्ला, इंदौर -2 से मोहन सिंह सेंगर, इंदौर-5 से सत्यनारायण पटेल और रतलाम ग्रामीण में विरोध के बाद लक्ष्मण डिंडोर का टिकट काटकर थावर लाल भूरिया को दे दिया गया।