newsdog Facebook

2019 की बड़ी भविष्यवाणी - चुनाव में बीजेपी को मिलेंगी सिर्फ इतनी सीटें, मोदी के उड़े होश

vk junction 2018-11-09 14:13:53

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अभी से इस बात की घोषणा कर दी है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी का प्रदर्शन कैसा रहेगा. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने सोमवार को दावा किया है कि बीजेपी 2019 के लोकसभा चुनाव में 215 से ज्यादा सीटें नहीं जीतेगी.

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि मैंने पिछले कुछ दिनों में कई लोगों से मुलाकात की है. सभी ने सहमति जताई है कि बीजेपी को 215 से कम सीटें मिलेगी. बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है. युवा अपने भविष्य को लेकर परेशान हैं. मिडिल क्लास का बीजेपी मोह भंग हो चुका है.

360+ का टारगेट होगा पूरा

बीजेपी के इस अंदरूनी सर्वे में भविष्यवाणी की गई है कि भाजपा 2019 के लोकसभा चुनाव में 300 से ज्यादा सीटें जीत सकती है और पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन एनडीए को कुल 360 से अधिक सीटें मिलने की संभावना है। सूत्रों ने सर्वेक्षण के बारे में कहा है कि इसमें दावा किया गया है कि 2019 के लोकसभा चुनावों में एनडीए को कुल वोटों का 51 प्रतिशत मिलेगा, जो 2014 में मिले मत प्रतिशत से 12 फीसदी ज्यादा है। दावा किया गया है कि देश का मूड पार्टी के पक्ष में है और ये सब सरकार की कल्याणकारी नीतियों के कारण है जिनके चलते 90 प्रतिशत गांवों को लाभ हुआ है। 2014 के चुनावों में एनडीए ने 543 लोकसभा सीटों में से 336 जीती थीं, जिसमें बीजेपी को अकेले 282 सीटें मिली थी।

2019 में बिगड़ सकता है मोदी का स्वास्थ्य

बैतूल के ज्योतिषी हिरेंद्र शुक्ला ने भी 2019 के चुनाव के लिए भाजपा के पक्ष में भविष्यवाणी की है। हालांकि उनका भी यह मानना है कि भाजपा की सीटों की संख्या आने वाले लोकसभा चुनावों के दौरान कम हो जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली के आधार पर भविष्यवाणी करते हुए शुक्ला ने कहा कि मोदी की कुंडली वृश्चिक लग्न की है और उनकी कुंडली के लग्न में मंगल के साथ बैठा चंद्रमा रोचक योग बना रहा है और चंद्रमा की महादशा में ही मोदी को सत्ता के सर्वोच्च स्थान पर पहुंचाया है लेकिन यह महादशा 21 को खत्म होगी। उस महादशा के खत्म होने से पहले चंद्रमा में केतू की महादशा के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में यह भी हो सकता है कि देश के लिए नेतृत्व कोई और व्यक्ति करे। 

मोदी बनाम राहुल की रणनीति नहीं होगी कारगर 

2019 के आम चुनावों को मोदी बनाम गांधी मुकाबले के तौर पर पेश करने के प्रयासों पर एनसीपी प्रमुख ने कहा, यह भाजपा की रणनीति है जो कारगर नहीं होगी। उन्होंने कहा, राहुल से अपनी अब तक की सभी बातों के दौरान, मैंने महसूस किया कि कहीं भी प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने पर जोर नहीं था बल्कि मौजूदा सरकार को बदलने का मुद्दा था।

मोदी सरकार के प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर पवार ने कहा कि मौजूदा सरकार से लोगों की उम्मीदें पूरी नहीं हुईं। उन्होंने कहा, 2014 में जो वायदे किए गए थे, वे चार के साल के बाद जमीन पर नजर नहीं आते हैं। (पूर्व प्रधानमंत्री) मनमोहन सिंह ने सुशासन के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की और इरादे सर्वश्रेष्ठ थे। वह स्थिति आज नहीं है।

News Source:  NDTV khabar.in