newsdog Facebook

खुलासा: नोटबंदी नहीं रघुराम की वजह से गिरी थी विकास दर, विरोधी हुए चुप#टीटी

Desi World News. 2018-11-09 14:14:00

Third party image reference

नोटबंदी की वजह से भारत की ग्रोथ दर गिरने की बात बताने वाले लोगों को हाल ही में एक बड़ा झटका लगा है। बताते चलें कि नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने हाल ही में एक ऐसा खुलासा किया है जिसके चलते नोटबंदी के विरोधियों के मुंह पर ताला लग सकता है। बताते चलें कि नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा है कि भारत की विकास दर नोटबंदी की वजह से नहीं बल्कि रघुराम राजन की नीतियों की वजह से गिरी थी।

Third party image reference

इसके आगे उपाध्यक्ष ने कहा कि मुझे चिंता है कि पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व वित्त मंत्री ने नोटबंदी को भारत की ग्रोथ दर्द गिरने का कारण बताया। इसके आगे उन्होंने कहा कि 2013-14 के दौरान भारत की आर्थिक विकास दर 4.7 फ़ीसदी थी, जो अब बढ़कर 8.2 फ़ीसदी हो गई है।

Third party image reference

उन्होंने कहा कि रघुराम राजन के कार्यकाल के समय एनपीए बढ़ने की वजह से बैंकिंग सेक्टर ने इंडस्ट्री को उधार देना बंद कर दिया। जिस वजह से मीडियम और स्माल स्केल इंडस्ट्री का क्रेडिट ग्रोथ नेगेटिव में चला गया। लार्ज स्केल के लिए भी इंडस्ट्री का क्रेडिट ग्रोथ एक से 2.5 फ़ीसदी तक गिर गया। यह भारतीय इकनॉमी के इतिहास में क्रेडिट में आई सबसे बड़ी गिरावट थी।

Third party image reference

इसके आगे उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्त मंत्री पी चितंबरम सहित अनेक विपक्षी नेताओं ने मात्र मोदी सरकार को निशाने पर लेने के लिए रघुराम राजन की एनपीए नीतियों को छुपाए रखा। हालांकि अब इसका खुलासा हो चुका है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का परोक्ष रूप से हवाला देते हुए सवाल किया याद करिए कि किसने कहा था कि 300000 करोड रुपए वापस नहीं आएंगे और यह सरकार के लिए लाभ होगा।

रघुराम राजन की एनपीए नीतियों को लेकर खुलासा होने के बाद अब आपकी राय नोटबंदी के बारे में क्या है? हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं साथ ही हमारे चैनल को फॉलो।