newsdog Facebook

पंजाब में आतंकवाद कांग्रेस की देन : बादल

Punjab Kesari 2018-11-23 08:03:53

जालंधर (बुलंद): पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री व अकाली दल के सरपरस्त प्रकाश सिंह बादल ने आज जालंधर दौरे दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि पूरा सिख समुदाय केंद्र सरकार का आभारी है जिसने करतारपुर कॉरीडोर बनाने के लिए कदम आगे बढ़ाए हैं। उन्होंने कहा कि अकाली दल लंबे समय से पाकिस्तान के गुरुद्वारों के खुले दर्शनों के लिए प्रयत्नशील रहा है। 



केंद्र सरकार ने भी अकाली दल के यत्नों पर अमल करते हुए करतारपुर कॉरीडोर बनाने की पहल की है। उन्होंने कहा कि मेरी खुद केंद्रीय मंत्री अरुण जेतली से बात हुई है जिन्होंने कहा है कि करतारपुर कॉरीडोर एक ऐसी चीज बनेगी जो देश की मुख्य इमारतों में से एक गिनी जाएगी। करतारपुर कॉरीडोर के लिए नवजोत सिद्धू या पंजाब कांग्रेस की कोई देन नहीं है। बादल ने कहा कि केंद्र सरकार और अकाली दल के संघर्ष का ही नतीजा है कि 1984 के दिल्ली सिख कत्लेआम के कुछ दोषियों को सजा मिल पाई है। अगर केंद्र में कांग्रेस सरकार होती तो ऐसा कभी न हो पाता क्योंकि कांग्रेस खुद सिखों के कत्लेआम की दोषी है।



बरगाड़ी और बहबलकलां के केसों की जांच के लिए बनाई गई एस.आई.टी. के बारे में बादल ने कहा कि यह एस.आई.टी. असल में कैप्टन अमरेंद्र सिंह के हाथों की कठपुतली है और कैप्टन ने इसे बनाया ही इसलिए है कि वह बरगाड़ी में बैठे कट्टरपंथियों को खुश करने के लिए बादल परिवार को झूठे केसों में फंसा सकें। वह कानून का सम्मान करते हैं और उन्होंने एस.आई.टी. के समक्ष पेश होकर अपने बयान दिए हैं पर आखिर में सिट द्वारा फैसला वही लिया जाएगा जो कैप्टन अमरेंद्र को मंजूर होगा। दोबारा पैर पसार रहे आतंकवाद पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब भी पंजाब में कांग्रेस सरकार आई तो उसने अपने बांटो और राज करो वाले फार्मूले को लागू किया है। इसी के तहत पंजाब में कांग्रेस हिंदू-सिख भाईचारे को आपस में लड़वा कर राजनीतिक फायदा लेना चाहती है जो वह कभी सफल नहीं होने देंगे।



पाकिस्तान में गए सिख श्रद्धालुओं को वहां की भारतीय अम्बैसी के अधिकारियों से मिलने नहीं दिया गया पर चाहिए तो यह था कि खुद भारतीय अम्बैसी के अधिकारी आकर सिख श्रद्धालुओं को मिलते। बादल ने पंजाब कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि पंजाब में बादल परिवार के सदस्य असुरक्षित हैं क्योंकि खुद कैप्टन सरकार उन पर हमले करवा रही है। संगरूर में सुखबीर पर जो हमला हुआ था उसके आरोपियों पर सरकार न केस तक दर्ज नहीं किया था। इससे साफ है कि कांग्रेस अकालियों का जानी-माली नुक्सान करने पर उतारू है। इसका खमियाजा कांग्रेस को लोकसभा चुनावों में भुगतना होगा क्योंकि लोग कांग्रेस के सच को जान चुके हैं। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!