newsdog Facebook

केवल नंबर के लिए केरल के कारोबारी ने खर्च कर दिए 31 लाख रुपए, जानिए कार की कीमत

Jansatta 2019-02-05 18:20:31
प्रतीकात्मक फोटो

एक नंबर आपके लिए कोई महत्व न रखता हो, लेकिन केरल स्थित फार्मास्यूटिकल डिस्ट्रिब्यूटर केएस बालागोपाल के लिए इसकी काफी अहमियत है। खासतौर पर तब, जब नंबर उनकी पसंद का हो। उन्हें अपनी नई पोर्श स्पोर्ट्स कार के लिए फैंसी रजिस्ट्रेशन नंबर खरीदना था, जिस पर उन्होंने 31 लाख रुपए खर्च कर दिए।

31 लाख में खरीदा पसंदीदा नंबर : बता दें कि केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम के ट्रांसपोर्ट ऑफिस में सोमवार को फैंसी रजिस्ट्रेशन नंबर के लिए एक नीलामी का आयोजन किया गया। फार्मास्यूटिक डिस्ट्रिब्यूटर बालागोपाल ने इस नंबर को 31 लाख रुपए में खरीद लिया, जो उनकी नीले रंग की इम्पोर्टेड पोर्श 718 बॉक्सटर पर सजेगा। यह नंबर केएल-01 सीके-1 है।

3 दावेदार थे मैदान में : जानकारी के मुताबिक, इस नंबर के लिए बोली में 3 दावेदार थे। बोली की शुरुआत 500 रुपए से हुई थी। इस दौरान दुबई में रहने वाले एक एनआरआई इस नंबर के लिए 10 लाख रुपए देने को तैयार हो गए, लेकिन बालागोपाल और दूसरे दावेदार बोली बढ़ाते रहे। दूसरे दावेदार ने अंतिम बोली साढ़े 25 लाख रुपए लगा दी। ऐसे में बालागोपाल ने 5 लाख रुपए बढ़ाकर दाम 30 लाख तक पहुंचा दिए तो उसने भी मैदान छोड़ दिया। इसके बाद फार्मास्यूटिकल डिस्ट्रिब्यूटर ने एप्लिकेशन और अन्य फॉर्मेलिटीज के लिए एक लाख रुपए अतिरिक्त देकर नंबर अपने नाम पर पंजीकृत करा लिया।

राज्य में लगी सबसे बड़ी बोली : स्थानीय ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी का कहना है कि राज्य में किसी नंबर के लिए दी गई सबसे बड़ी रकम है। उन्होंने अनुमान जताया कि यह दक्षिण भारत की भी सबसे बड़ी बोली है। बता दें कि बालागोपाल के पास कई लग्जरी गाड़ियां हैं और अपनी कारों के लिए काफी पैसे खर्च करके केरल में नंबर खरीदने का रिकॉर्ड उनके नाम पर ही दर्ज है। 2017 में उन्होंने अपनी लैंड क्रूजर कार के लिए 19 लाख रुपए खर्च करके केएल-01 सीबी-01 नंबर खरीदा था।

Also Read
  • सिर्फ एक ट्वीट से सलाखों में पहुंचा केरल का इंंजीनियर, हुई 10 साल जेल और 28 लाख के जुर्माने की सजा
  • बच्चों के लिए पिता ने बनाया मिनी ऑटो, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

बचपन से है नंबर खरीदने का जुनून : बालागोपाल का कहना है कि इस बार रजिस्ट्रेशन नंबर के लिए खर्च की गई रकम अपनेआप में रिकॉर्ड है। करीब 6 साल पहले फैंसी नंबर के लिए हरियाणा में 26 लाख रुपए खर्च किए गए थे, जो रिकॉर्ड उन्होंने तोड़ दिया है। बालागोपाल कहते हैं कि उन्हें बचपन से ही नंबर खरीदने का जुनून है। अपने पसंदीदा नंबर के लिए ज्यादा रकम खर्च करने पर उन्हें दुख नहीं होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App