newsdog Facebook

आज का पंचांग- 9 फरवरी, 2019

Punjab Kesari 2019-02-09 06:57:11

आज 9 फरवरी, 2019 चतुर्थी तिथि के स्वामी गणेश जी हैं। इस तिथि में जन्मा बच्चा बड़ा इंटैलीजैंट, बातचीत का धनी, बात के साथ बात को जोडऩे में बड़ा एक्सपर्ट होता है। फ्रैंड्स का शौकीन, फ्रैंडशिप निभाने वाला होता है।


ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)


आज 9 फरवरी, 2019 चतुर्थी तिथि के स्वामी गणेश जी हैं। इस तिथि में जन्मा बच्चा बड़ा इंटैलीजैंट, बातचीत का धनी, बात के साथ बात को जोडऩे में बड़ा एक्सपर्ट होता है। फ्रैंड्स का शौकीन, फ्रैंडशिप निभाने वाला होता है। पंचमी तिथि के स्वामी शेषनाग हैं। इस तिथि में जन्मा बच्चा बड़ी प्रैक्टिकल सोच-व्यवहार वाला, फीमेल  सैक्स के प्रति ज्यादा अट्रैक्शन रखने वाला होता है।

नक्षत्र 
उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के स्वामी शनि हैं। यह नक्षत्र पंचक तथा पुरुष संज्ञक व तामसी है। इस नक्षत्र में जन्मा बच्चा  इंजीनियरिंग—मैकेनिकल, कैमीकल, इलैक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग, इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट, एजुकेशनल कंसल्टैंसी से सम्बद्ध प्रोफैशंस में इंट्रैस्ट रखने तथा उसमें अच्छी सक्सैस पाने वाला होता है। जन्म कुंडली में यदि शनि स्ट्रांग हो तो उसे जीवन में उन्नति करने के बहुत मौके मिलते हैं।

योग
सिद्ध योग के स्वामी कार्तिकेय हैं। इस योग में जन्मा बच्चा धर्म-परायणी, धार्मिक सोच-विचार वाला, रिलीजियस माइंडिड, रिलीजियस परम्पराओं, रिवाजों के बारे में जानकारी रखने वाला, पूजा-पाठ-कथा वार्ता, सत्संग में इंट्रैस्ट रखने वाला, धार्मिक प्रोग्रामों,  पूजा-पाठ, अनुष्ठानों में यूज़ होने वाले सामान की सेल-परचेज, सप्लाई, डिस्ट्रीब्यूशन के काम-धंधे से जुड़ा हो सकता है। 

करण
विष्टि करण का स्वामी यम है। विष्टि करण में जन्मा बच्चा कुछ सख्त एवं अड़ियल स्वभाव का, हार्ड लाइनर, जिद्दी, मनमानी करने वाला, दूसरे के साथ जल्द एडजस्टमैंट न करने वाला, अपनी बात पर अडऩे वाला, नानवैज तथा लिकर का शौकीन होता है। लोहा-चमड़ा से बने सामान का दान करना कल्याणकारी रहता है।

वार
शनिवार के देवता यम हैं। इस वार जन्मे बच्चे को प्रारम्भिक जीवन में बहुत स्ट्रगल करनी पड़ती है किन्तु वह सोच, विचार, स्टैंड, कमिटमैंट का बड़ा पक्का होता है। वह कोई भी फैसला जल्द न करने वाला, बहुत इंसाफ पसंद, किसी के साथ न तो स्वयं धक्का करने वाला और न ही किसी की ज्यादती टोलरेट  करने वाला होता है। मांह, काले तिल, काले वस्त्र का दान करते रहना ठीक होता है।

शुभ पंचांग
तारीख:
9 फरवरी, 2019
वार: शनिवार
अयन: उत्तरायण 
विक्रमी सम्वत्: 2075
विक्रमी माघ प्रविष्टे: 27
राष्ट्रीय शक सम्वत्: 1940
शक माघ तारीख:    20
हिजरी साल: 1440
महीना: जमादि उल्सानी, तारीख 3
पक्ष: माघ शुक्ल।
तिथि : चतुर्थी (दोपहर 12.26 तक) तथा तदोपरांत तिथि पंचमी।
नक्षत्र : उत्तरा भाद्रपद (सायं 5.30 तक) तथा तदोपरांत नक्षत्र रेवती।
योग : सिद्ध (दोपहर 12.03 तक) तथा तदोपरांत योग साध्य।
करण: विष्टि (दोपहर 12.26 तक) तथा तदोपरांत करण बव।
चंद्र राशि: मीन (पूरा दिन-रात) । 
सूर्योदय/सूर्यास्त: प्रात: 7.18/सायं 6.05 (जालन्धर समय)
राहू काल: प्रात: 09.00 से 10.30 बजे तक।

स्पैशल पर्व
वसंत पंचमी (उत्तर पश्चिमी भारत), श्री (लक्ष्मी) पंचमी, वागेश्वरी जयंती, सरस्वती पूजन।

गंड मूल काल
सायं 5.30 के उपरांत जन्मे बच्चे को रेवती नक्षत्र की पूजा लगेगी।

सूर्य       मकर में
चंद्रमा    मीन  में
मंगल     मेष में
बुध        कुंभ में
गुरु        वृश्चिक में
शुक्र      धनु में
शनि      धनु में
राहू       कर्क में
केतु      मकर में

दिशा शूल
पूर्व एवं ईशान दिशा के लिए। इस दिशा की यात्रा हानि- परेशानी, टैंशन वाली होगी।

पंचक काल
पंचक पूरा दिन-रात रहेगी।

भद्राकाल
भद्रा दोपहर 12.26  तक।

आज पैदा होने वाले बच्चों का नामाक्षर तथा भविष्यफल


समय - 
सूर्योदय से लेकर सायं 5.30 तक
नामाक्षर-
यह जातक फ्रैंड्स का शौकीन, उनकी कम्पनी पसंद करने वाला, सभा सोसायटीज, क्लब्ज, महफिलों में शामिल होने का इंट्रैस्ट रखने वाला होता है। लेडीज की कम्पनी में खुश रहता है।

समय - सायं 5.31 से 9.10 मध्य रात 12.02 तक
नामाक्षर- दे
यह बच्चा इंश्योरैंस, बैंकिंग, फाइनैंशियल सैक्टर, वकालत, ज्यूडीशियरी के साथ सम्बद्ध प्रोफैशन में इंट्रैस्ट रखने वाला होता है। रिलीजियस आर्गेनाइजेशंस के साथ भी उसकी अटैचमैंट हो सकती है।

समय - 9-10 मध्य रात 12.03 से लेकर अगले दिन (10 फरवरी) प्रात: 6.33 तक 
नामाक्षर-    दो
यह बच्चा न्यूज़ पेपर्स सैटअप, नैटवर्क, पब्लिकेशन, कंसल्टैंसी प्रोफैशन में अच्छी सक्सैस पाने वाला होता है। नेचर से कुछ सैक्सी तथा अपोजिट सैक्स की कम्पनी पसंद करने वाला होता है।

कुंभ के बारे में कितना जानते हैं आप !


ढूँढिये अपने सही जीवनसंगी को अपने ही समुदाय में भारत मैट्रिमोनी पर - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!