newsdog Facebook

निर्दलीय चुनाव लड़ रहे अतीक अहमद को नहीं मिली पैरोल, मोदी के खिलाफ मैदान छोड़ा

The World News Hindi 2019-05-13 10:57:55

वाराणसी संसदीय सीट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर ताल ठोंकने वाले पूर्व सांसद अतीक अहमद ने चुनाव मैदान से हटने की घोषणा की है। अतीक ने परोल न मिलने को चुनाव मैदान से हटने का कारण बताया है।

अतीक अहमद फिलहाल जेल में हैं। उन्होंने जेल से रहते हुए पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। जिसके बाद निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर उन्होंने पर्चा भरा। लेकिन अब आखिरी चरण के चुनाव से ठीक पहले मैदान छोड़ने का फैसला लिया। उन्होंने कहा है कि वो किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करेंगे।

अतीक के चुनाव एजेंट एडवोकेट शहनवाज आलम ने रविवार को अतीक का नैनी जेल से लिखा पत्र मीडिया को जारी किया। पत्र में लिखा है ‘भारत में लोकतंत्र की जड़ें बहुत मजबूत हैं। लेकिन ऐसी विचारधारा के लोग भी मौजूद हैं जो लोकतंत्र को संपत कर हिटलरशाही लाना चाहते हैं।’ पत्र में मतदाताओं से सांप्रदायिक ताकतों को परास्त करने की अपील भी की गई है।

अतीक अहमद ने इससे पहले कोर्ट से चुनाव प्रचार के लिए परोल देने की बात कही थी। इसके लिए उनकी तरफ से अर्जी दी गई जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया। पत्र में मतदाताओं से सांप्रदायिक ताकतों को परास्त करने की अपील की गई है। उधर, नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के कारण बैलेट यूनिट में अतीक अहमद का नाम और चुनाव चिन्ह अंकित रहेगा।

पत्र में लिखा है, भारत में लोकतंत्र की जड़ें बहुत मजबूत हैं लेकिन ऐसी विचारधारा के लोग भी मौजूद हैं, जो लोकतंत्र को समाप्त कर हिटलरशाही लाना चाहते हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें