newsdog Facebook

प्रदेश में जिले के 106 स्कूलों में इंटरनेट ही नहीं, कैसे हो ऑनलाइन काम

Patrika 2019-05-14 20:04:21

चन्दनसिंह देवड़ा/उदयपुर . शिक्षा विभाग नवाचार के साथ ही नई तकनीकों को अपनाने की दृष्टि से लगातार कदम बढ़ा रहा है लेकिन आदिवासी बहुल उदयपुर जिले के 100 से ज्यादा स्कूलों में आज भी इंटरनेट सुविधा से वंचित है। इन स्कूलों को जिला मुख्यालय और निदेशालय से आने वाले निर्देश पाने और जवाब भेजने में भारी समस्या उठानी पड़ रही है। ये स्कूल ई-मित्र केन्द्र या अपने स्तर पर मोबाइल इंटरनेट सेवा से काम चला रहे हैं।

शिक्षा विभाग में शाला दर्पण पर सारे डाटा की ऑनलाइन एंट्री करनी जरूरी है जिसे सूचनाओं का मुख्य आधार बनाया गया है। तबादले से लेकर स्कूल भवन, नामांकन, रिक्त पद, विषय वार आंकड़े समेत सभी जानकारी इस पर अपडेट करनी होती है। ऐसे में इंटरनेट सुविधा के अभाव में यह काम प्रभावित हो रहा है। सरकार तक पूरी जानकारी नहीं पहुंच पा रही है। जिले के झाड़ोल, खेरवाड़ा, ऋषभदेव और सेमारी ब्लॉक में 7 स्कूल ऐसे भी हैं, जहां पर अभी तक बिजली कनेक्शन तक नहीं हो पाया है।

निगरानी करने वाले पीईईओ भी नहीं
जिले में पीईईओ के 30 फीसदी पद रिक्त हैं जो शाला दर्पण और ऑनलाइन डाटा एंट्री के काम पर निगरानी रखते हैं।

.....

जिले के 106 स्कूलों में इंटरनेट कनेक्शन नहीं है। उन्हें प्रति विद्यालय 10 हजार 300 रुपए उपलब्ध करवाए गए हैं ताकि वह नेट व्यवस्था कर ऑनलाइन डाटा एंट्री का काम कर सकें। सभी पीईईओ को लेपटॉप दिए हैं। जहां कहीं तकनीकि समस्या है उसे दुरुस्त करवाने के निर्देश देंगे। शिवजी गौड़, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी