newsdog Facebook

रेडियोग्राफर के 8 पद, 4 खाली, 3 के भरोसे 250 जांच

Patrika 2019-05-15 23:46:22

 

सतना.जिला अस्पताल में वर्षो से चिकित्सकों सहित स्टाफ की कमी बनी हुई है। इससे अस्पताल पहुंचने वाले पीडि़तों को सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। पीडि़तों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। एेसी ही स्थिति मंगलवार को एक्सरे विभाग में देखने को मिली। एक्सरे कक्ष में पीडितों की लम्बी कतार लगी हुई थी। लोग घंटों कतार में खड़े होने के बाद भी नबंर नहीं आ पा रहा था।
बता दें जिला अस्पताल एक्सरे विभाग में रेडियोग्राफर के आठ पद स्वीकृत हैं। लेकिन चार पद सालों से खाली पड़े हुए हैं। एक रेडियोग्राफर की ड्यूटी ओटी में लगाई गई है। महज तीन रेडियोग्राफर के भरोसे एक्सरे विभाग का संचालन किया जा रहा है।

एक्सरे और रिपोर्ट में लगते हैं घंटों
जिलेभर से प्रतिदिन डेढ़ से दो सौ मरीज एक्सरे जांच के लिए जिला अस्पताल पहुंचते हैं। दो रेडियोग्राफर को पांच घंटे में सभी पीडि़तों की जांच करने की बड़ी चुनौती होती है। जांच के बाद रिपोर्ट भी बांटना मुश्किल भरा होता है। स्टाफ की कमी और पीडि़तों की संख्या अधिक होने से सभी की जांच संभव नहीं हो पाती है। पीडि़तों को मजबूरी में निराश होकर लौटना पड़ता है।

इमरजेंसी, एमएलसी, भर्ती मरीजों की भी जांच का जिम्मा
नैदानिक केंद्र स्थित एक्सरे विभाग में ओपीडी में आने वाले पीडि़तों के अलावा इमरजेंसी, एमएलसी और भर्ती मरीजों की जांच का जिम्मा होता है। इनकी वरीयता के आधार पर पहले जांच करनी होती है। एेसी में आए दिन विवाद की भी स्थिति बनती है। प्रबंधन को व्यवस्था बनाए रखने मजबूरी में सुरक्षाकर्मी तैनात करना पड़ा है।

जिला अस्पताल में होने वाली एक्सरे जांच
माह एक्सरे जांच
जनवरी 3654
फरवरी 3356
मार्च 3641
अप्रैल 3487

रेडियोग्राफर के पद सालों से खाली
स्वीकृत पद कार्यरत रिक्त
8 4 4