newsdog Facebook

शुरू करें पेपर बैग बनाने की यूनिट, होगी अच्छी खासी कमाई, मिल जाएगा 1 करोड़ तक का लोन

The Desi Awaz 2019-05-16 08:54:43

आपको पता ही होगा देश के कई राज्यों में अब पॉलिथीन पर बैन लग गया है। अब इसके बाद पेपर बैग और पाउच की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। जी हां, दरअसल पेपर कैरी बैग का इस्‍तेमाल लगभग हर टाइप के ट्रेड में हो रहा है।

आपको बता दें कि टैक्‍सटाइल शॉप, बैकरी, शू, चप्‍पल शॉप, ग्रोसरी शॉप, फैसी शॉप, बुक शॉप, स्‍वीट शॉप, मीट-फिश शॉप, वेजिटेबल शॉप, स्‍टेशनरी शॉप, हार्डवेयर शॉप, सभी डिपार्टमेंटल शॉप एवं कंज्‍यूमर शॉप में पेपर बैग का इस्‍तेमाल हो रहा है। ऐसे समय में यदि आप पेपर बैग बनाने की यूनिट लगाते हैं तो यह फायदा का बिजनेस हो सकता है।

दरअसल इसकी सबसे अच्‍छी बात यह है कि सरकार भी पेपर बैग यूनिट को सपोर्ट कर रही है, ताकि पॉलिथीन बैग की वजह से पर्यावरण को हो रहे नुकसान पर काबू पाया जा सकता है।

बता दें कि अगर आप पेपर बैग बनाने की यूनिट लगाना चाहते हैं तो सरकार आपको 1 करोड़ रुपए तक का लोन दे सकती है। चलिए जानते हैं इस बिज़नेस के बारे में सबकुछ..

इतने में शुरू हो जाएगी यूनिट

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की उद्यमी मित्र योजना के तहत तैयार किए प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के अनुसार, अगर आप अपनी यूनिट लगाने के लिए लैंड और बिल्डिंग परचेज करते हैं तो आपको लगभग 32 लाख रुपए इस पर खर्च करने होंगे। हालांकि आप किराये की बिल्डिंग में भी यह यूनिट लगा सकते हैं।

इतना ही नहीं इसके अलावा आपको प्‍लांट एंड मशीनरी पर 14.65 लाख रुपए का खर्च करना होगा। मालूम हो कि विवि‍ध असेट के नाम पर 3 लाख, पीएंडपी एक्‍सपेंस पर 2.15 लाख रुपए, कंटीजैंस पर 4.67 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल मार्जिन के तौर 91.64 लाख रुपए यानी कुल 1 करोड़ 48 लाख रुपए की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट बनानी होगी। मालूम हो कि वर्किंग कैपिटल में रॉ-मैटिरियल भी शामिल होगा।

कितना मिलेगा लोन

आपको बता दें कि उद्यमी मित्र के मुताबिक आपको प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट का लगभग 1 करोड़ 3 लाख रुपए का लोन मिल जाएगा, जबकि आपको खुद लगभग 45 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा।

सपोर्ट करेगी सरकार

पेजानकारी के लिए बता दें कि पेपर पैकेजिंग प्रोडक्‍ट्स के लिए इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग मुंबई और उनकी ब्रांच की ओर से ट्रेनिंग दी जाती है। दरअसल इसी तरह की ट्रेनिंग नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन अहमदाबाद और उरकी ब्रांच द्वारा बैग और पाउच के डिजाइन की ट्रेनिंग दी जाती है।

बता दें कि इसके अलावा आप उद्यमी मित्र की वेबसाइट www.udyamimitra.in पर हैंड होल्डिंग सर्विसेज जैसे अप्‍लीकेशन फाइलिंग, प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार करना, ईडीपी, फाइनेंशियल ट्रेनिंग, स्किल डेवलपमेंट, मेंटरिंग आदि के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

इतना होगा लाभ

बता दें कि इसकी प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, पहले साल आपको 1 लाख 76 हजार रुपए का कुल प्रॉफिट होगा। हालांकि दूसरे साल में आपको 6 लाख 7 हजार रुपए का प्रॉफिट होगा, जो अगले साल बढ़कर 10 लाख 78 हजार रुपए, चौथे साल 12 लाख 17 हजार और 5वें साल आपको 13 लाख 56 हजार रुपए का प्रॉफिट हो सकता है।