newsdog Facebook

नमाज पढकऱ घरों को लौटते ही मोहल्ले में मच गई चीख-पुकार, आखिर ऐसा क्या हुआ? जानें पूरा वाकया

Patrika 2019-05-16 14:20:06

सवाई माधोपुर/मलारना डूंगर।

गुरुवार सुबह लोगों ने अंधेरे में सहरी खाई। सुबह 4 बजे के लगभग सहरी का वक्त खत्म हुआ तो बिजली आई, लेकिन कुछ देर बाद फिर से गुल हो गई। लोगों ने फज्र की नमाज अंधेरे में पढ़ी। नमाज पढ़कर घरों को लौटते ही मोहल्ले में चीख पुकार मच गई। लोग कुछ समझ पाते इससे पहले दर्जनों लोग बिजली करंट की चपेट में आ चुके थे। दहशत में ज्यादातर लोग घरों से निकल कर रास्ते पर खड़े हो गए। बिजली करंट से जख्मी लोगों को मलारना डूंगर सीएचसी में भर्ती कराया गया। यह वाकिया घटित हुआ गुरुवार सुबह कस्बे में खारा कुआं से घाटी पाड़े को जाने वाले मार्ग पर।

खारे कुएं पर लगे सिंगल फेज ट्रांसफॉमर में आई तकनीकी खामी के चलते ही घरों में 11 केवी का रिटर्न करंट दौडऩे की बात कही जा रही है। समय रहते जीएसएस कर्मियों के द्वारा बिजली सप्लाई बंद कर देने से बड़ा हादसा टल गया।

स्थानीय निवासी आसिफ ने बताया कि तडक़े 3 बजे से ही खारा कुआं मोहल्ले में बिजली बार-बार जा रही थी। सुबह फज्र की नमाज के बाद लोग अपने अपने घरों में थे। इस दौरान अचानक ट्रांसफार्मर से तेज आवाज आई और बिजली गुल हो गई। इसके बावजूद घरों में करंट दौड़ता रहा। आलम यह था कि घरों में दरवाजे, खिडक़ी, कूलर, फ्रीज, पानी के बर्तनों तक में करंट आने ज्यादातर लोग करंट की चपेट में आ गए।

इस दौरान खुर्शेद ( 49 ) पुत्र कय्यूम, सलीम ( 50 ) पुत्र रफीक, सकीना ( 25 ) पुत्री अनीस के करंट लगने से मलारना डूंगर सीएचसी में भर्ती कर उपचार किया गया। इसके अलावा दो अन्य महिला व एक पुरुष को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

मोहल्लेवासी जाकिर खान ने बताया कि सुबह बिजली में गड़बड़ी चल रही थी। हमने लाइनमेन को फोन किया। नहीं उठाया। इसके बाद जीएसएस पर फोन किया तो वहां से लाइनमेन को सूचना देने की बात कही गई। इसके कुछ देर बाद ही बिजली आई और ट्रांसफार्मर में तेज आवाज के साथ बिजली गुल हो गई। इसके बाद भी घरों में करंट दौड़ता रहा। इस दौरान कुछ लोगों के करंट लगने के साथ ही घरों में दर्जनों बिजली उपकरण भी ***** गए। इस सम्बंध में बिजली निगम के कनिष्ठ अभियंता ने बस इतना ही कहा कि ट्रांसफार्मर में तकनीकी खामी के कारण ही घरों में 11 केवी करंट दौड़ा है।