newsdog Facebook

यौन हिंसा की शिकायत दर्ज कराने पर 19 साल की युवती की आग लगाकर हत्या

Catch Hindi 2019-05-30 12:29:00

बांग्लादेश में 19 साल की एक किशोरी की जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई. हत्या के मामले में 16 लोगोंं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. बताया जा रहा है कि नुसरत जहां रफी को उनके ही स्लामिक स्कूल की छत पर जिंदा जलाकर मार दिया गया. हत्यारोपियों ने पहले नुसरत पर मिट्टी का तेज डाला और फिर उन्हें आग के हवाले कर दिया गया. घटना 6 अप्रैल की बताई जा रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना वाले दिन ही नुसरत ने अपने साथ हुई यौन हिंसा की शिकायत दर्ज कराई थी. नुसरत की हत्या के मामले में स्कूल के प्रधानाचार्य सिराज उद दौला को मुख्य आरोपी बताया गया है. उसके साथ ही 15 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पुलिस के मुताबिक प्रधानाचार्य ने जेल से ही नुसरत की हत्या के आदेश दिए थे. क्योंकि नुसरत ने सिराज उद दौला के खिलाफ दर्ज कराए गए मामले को वापस लेने से इंकार कर दिया था.

पुलिस के मुताबिक नुसरत की हत्या की तैयारी के लिए हत्यारोपियों ने बिल्कुल मिलिट्री प्लान की तरह ही तैयारी की थी. नुसरत की हत्या के बाद पूरे बांग्लादेश में लोगों में खासी नाराजगी देखने को मिल रही है. बताया जा रहा है कि नुसरत ने इसी साल मार्च महीने के आखिर में स्कूल के प्रधानायार्य सिराज उद दौला के खिलाफ मामला दर्ज कराया था उसके बाद उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

उसके बाद 6 अप्रैल को जब नुसरत स्कूल में परीक्षा देने गई तो उन्हें पहले स्कूल की छत पर बुलाया गया. जहां कुछ लोग पहले से मौजूद थे. उन लोगों ने नुसरत पर मिट्टी का तेज डाल दिया और आग लगा दी. इस दौरान सभी आरोपियों ने बुर्के पहन रखे थे.  पुलिस के मुताबिक हत्यारोपियों ने इस बात की पूरी कोशिश की कि नुसरत की हत्या को आत्महत्या का रंग दे सकें.

लेकिन उनके ये मंसूबे कामयाब नहीं हुए. नुसरत का शरीर 80 फीसदी जल चुका था, लेकिन मौत से पहले नुसरत ने अपने साथ घटी पूरी घटना बता दी. नुसरत ने 10 अप्रैल को मरने से अपने बयान में इस बात का जिक्र किया कि स्कूल की छत पर उस पर तेल डालकर आग के हवाले कर दिया.