newsdog Facebook

जदयू ने किया एनडीए से बाहर जाने का फैसला कहा -अकेले दम पर लड़ेगें चुनाव

Quick Joins 2019-06-10 17:02:31

लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने वाली जनता दल यूनाइटेड ने अब अपने गठबंधन के स्वरूप को बदलने का फैसला किया है। रविवार को लोकसभा चुनाव के बाद हुई जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में यह निर्णय लिया गया। इस बैठक में फैसला लिया गया कि बिहार में जदयू व भाजपा का गठबंधन बना रहेगा। जदयू एनडीए का हिस्सा बनी रहेगी। लेकिन, देश के अन्य भागों में जदयू अपने हिसाब से किसी भी दल से गठबंधन करने या चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र होगी। आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी ने अपने दम पर उतरने का निर्णय लिया है।

जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के इस फैसले से निश्चित तौर पर भाजपा की परेशानी बढ़ने वाली है। सबसे अधिक परेशानी पश्चिम बंगाल में होने वाली है। जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष व सीएम ममता बनर्जी के लिए रणनीति बनाने का निर्णय लिया है। उनकी कंपनी ममता बनर्जी को यह सेवा देगी। इसको लेकर लगातार जदयू पर कार्रवाई का दबाव बनाया जा रहा था। जदयू ने रविवार की बैठक में साफ कर दिया कि पार्टी का गठबंधन केवल बिहार में है।

राष्ट्रीय स्तर पर भी जदयू नरेंद्र मोदी सरकार का हिस्सा नहीं बनी है। ऐसे में यह निर्णय भाजपा के लिए परेशानी का सबब बन सकती है। जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में फैसला लिया गया कि जदयू बिहार के बाहर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का हिस्सा नहीं होगा। जदयू जम्मू-कश्मीर, झारखंड, हरियाणा और दिल्ली में होनेवाले आगामी विधानसभा चुनाव में अकेले लड़ेगा। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस मुद्दे पर मुहर लग गई है। हालांकि, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मन में किसी प्रकार का भ्रम न रखें। हम एनडीए में हैं और एनडीए में बने रहेंगे।

नीतीश कुमार ने कहा कि 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव हम भाजपा के साथ मिलकर लड़ेंगे। बिहार के मुख्यमंत्री आवास 1, अणे मार्ग में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने अन्य राज्यों में पार्टी के विस्तार पर अपनी राय रखी है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने विश्वास जताया कि नगालैंड व अरुणाचल प्रदेश में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद अब दिल्ली, झारखंड, जम्मू-कश्मीर और हरियाणा में भी जदयू मजबूत उपस्थिति दर्ज करेगी। हमारा यूएसपी हमारा काम है और उसी की बदौलत हम अन्य राज्यों में भी बढ़ेंगे।