newsdog Facebook

किसानों की दयनीय स्थिति के लिए 'राजनाथ सिंह' ने राहुल गांधी ठहराया जिम्मेंदार

News Track Hindi 2019-07-11 06:16:00

गुरुवार को संसद के बजट सत्र के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा में किसानों की आत्‍महत्‍या का मामला उठाया है. इस दौरान राहुल ने केंद्र की मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए. राहुल गांधी के बयान पर सदन के उपनेता राजनाथ सिंह ने कहा कि इसके लिए वे लोग जिम्‍मेदार हैं, जो लोग देश में लंबे समय तक काबिज रहे. राजनाथ का इशारा कांग्रेस सरकार की ओर था. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

अपने बयान में राहुल गांधी ने लोकसभा में कहा कि देश में किसानों की हालत बेहद गंभीर है. मेरे संसदीय क्षेत्र वायनाड में किसान आत्महत्या कर रहे हैं. यहां 8 हजार किसानों को बैंक लोन न चुकाने पर नोटिस भेजा गया है. केरल में 18 किसानों ने आत्महत्या की, क्योंकि वह बैंकों का लोन नहीं चुका पाए थे. बीते पांच साल में सरकार ने किसानों को कम पैसा दिया, जबकि अमीर उद्योगपतियों को ज्यादा पैसा दिया है. कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा कि हम ये जानना चाहते हैं कि किसानों के साथ ये दोहरा रवैया क्यों? सरकार के लिए किसान अमीरों से ज्यादा जरूरी क्यों नहीं है? राहुल गांधी ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि वह रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को निर्देश दे और किसानों को धमकाना बंद किया जाए. उन्होंने कहा कि देश में किसानों की हालत बहुत खराब है और सरकार को इसके लिए कदम उठाने चाहिए.

प्राप्त जानकारी के ​अनुसार राहुल गांधी के आरोपों पर राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में किसानों की जिस दयनीय स्थिति का जिक्र राहुल गांधी कर रहे हैं, ये काफी लंबे समय से चली आ रही है. ये स्थिति पिछले 4-5 सालों में उत्‍पन्‍न नहीं हुई है. देश में जो लोग लंबे समय तक सत्‍ता पर काबिज रहे हैं, वे इसके लिए जिम्‍मेदार हैं. मोदी सरकार के गठन के बाद किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं. मोदी सरकार ने जितना मिनिमम सपोर्ट प्राइज (एमएसपी) बढाया है, उतना आजतक किसी भी सरकार ने नहीं बढ़ाया है. इसके साथ ही किसानों को 6 हजार रूपये देने की योजना हमारी सरकार ने लागू की है और इससे उनकी आय में वृद्धि भी हुई है. किसानों ने सबसे ज्यादा आत्महत्या इससे पहले की सरकारों में की हैं और यह बात में दावे के साथ कह सकता हूं.