newsdog Facebook

50 फीसदी से ज्यादा बोवनी, 190 बीज सैंपल में से सिर्फ 14 की आई रिपोर्ट

Patrika 2019-07-12 00:03:03

खंडवा. जिले में दो कंपनी के उर्वरक सैंपल अमानक मिलने के बाद भी कृषि विभाग गंभीर नहीं हुआ। एक माह पहले जांच के लिए लैब भेजे 190 बीज और 90 उर्वरक में से अभी सिर्फ 55 सैंपलों की जांच रिपोर्ट विभाग को प्राप्त हुई है, जबकि जिले में खरीफ की 50 फीसदी से ज्यादा बोवनी हो चुकी। अमानक उर्वरक डीएपी की पुष्टि होने से किसानों को बोवनी करने के बाद भी चिंता सता रही है कि उनका बोया बीज और छिड़काव किया उर्वरक असली है या नकली। किसान भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं कि सैंपल की रिपोर्ट मानक ही हो। कृषि उपसंचालक का कहना है कि किसानों का परेशान होने की आवश्कता नहीं है। अभी तक 14 बीज और 41 उर्वरक की रिपोर्ट आई। इसमें सभी 14 बीज और 37 उर्वरक के सैंपल मानक पाए गए है। आगे भी जो सैंपल रिपोर्ट आएगी, वह मानक ही आएगी।

 

सैंपल जांच में हर बार देरी
जिले में खरीफ और रबी फसल के सीजन के शुरू होने के पहले कृषि विभाग को सोसायटी और बाजार में बिकने वाले बीज, उर्वरक के सैंपल की जांच करनी होती है। इससे बोवनी के समय किसान को असली-नकली बीज, उर्वरक और पौध औषधि की जानकारी हो, लेकिन कृषि विभाग ऐसा नहीं करता। बोवनी शुरू करने के कुछ दिन पहले विभाग के अधिकारी जांच के लिए सैंपल लेने पहुंचते हैं। इनकी जब तक जांच रिपोर्ट आती है तब तक बोवनी पूरी हो चुकी होती हैं। ऐसे में किसान के पास बर्बादी के सिवाए कुछ नहीं बचता है।

दो ब्रांडेड उर्वरक निकले नकली
कृषि विभाग की ओर से 90 अलग-अलग कंपनियों के उर्वरकों के सैंपल जांच के लिए उर्वरक प्रयोगशाला भेजा था। 41 सैंपल की रिपोर्ट आई, जिसमें कोरोमंडल इंटरनेशनल कंपनी और इंडियन पोटाश लिमिटेड के डीएपी के एक-एक सैंपल अमानक निकले। हैरत की बात है कि यह दोनों ब्रांडेड कंपनी सरकारी हैं। अमानक की रिपोर्ट आए 15 दिन बीत चुका है। विभाग ने डीएपी के वितरण पर प्रतिबंध लगाया, लेकिन किसी भी कंपनी पर बड़ी कार्रवाई नहीं हो पाई। इस संबंध में कृषि उपसंचालक आरएस गुप्ता ने कहा कि फर्टिलाइजर क्वालिटी कंटोल एक्ट के तहत कंपनियों को राज्य से बाहर दोबारा जांच कराने का अधिकार है। दोनों कंपनी ने फिर जांच के लिए लिखा है। अमानक निकले सैंपल जांच के लिए राज्य से बाहर दूसरे शहर की लैब में भेजे जाएंगे। वहां भी अमानक रिपोर्ट आती है तो एफआइआर व अन्य वैधानिक कार्रवाई होगी।
210 बीज और 145 उर्वरक का था लक्ष्य
खरीफ फसल के लिए कृषि विभाग द्वारा इस बार 210 बीज,145 उर्वरक और 30 पौध संरक्षण औषधी के सेंपल की जांच का लक्ष्य रखा है। जिसमें से 190 बीज, 90 उर्वरक और 5 पौध संरक्षण औषधी के सेंपल कृषि अधिकारियों ने जांच के लिए भेजे है। 14 बीज और 41 उर्वरक के सेंपल की रिपोर्ट आई। इसमें 53 सेंपल मानक असली पाए गए। 2 डीएपी उर्वरक अमानक निकले।