newsdog Facebook

शोध, जलवायु परिवर्तन पहाड़ की चढ़ाई को और भी खतरनाक बना देता है

Samachar Nama 2019-07-12 00:00:00

जयपुर। उंचे पहाड़ पर चड़ना एक खतरनाक काम होता है। यह काम जलवायु परिर्वन के कारण और भी खतरनाक हो जाता है। एक नई जांच में शोधकर्ता अर्नाल्ट टिम यूनिवर्सिट आॅफ वैगनिंगन का विचार है कि माउंटेन क्लाइंबिंग कायरों का खेल नही होता है। वैसे यह खेल निष्चित रूप से आसान नहीं होता है, वास्तव में उच्च तापमान पहाड़ की चढ़ाई को और भी खतरनाक बना देता है। टिम्मी का मानना है कि जलवायु परिवर्तन के कारण हर पर्वतीय क्षेत्र अधिक खतरनाक नहीं होता है। बढ़ते तापमान के साथ ही कुछ अन्य कारण भी होते है, जो गिरने की संभावना को बढ़ा देते हैं। उदहारण के लिए ढ़लान दिशा इसलिए अधिक खतरनाक हो जाती है क्योंकि पूर्वी और पश्चिमी पक्षों को बड़े तापमान में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा जोखित उन ढ़लानों पर अधिक होा है, जो ग्रेफाइट और एम्फीबोलाइट से बने होते हैं। अध्ययन में खुलासा हुआ है कि पिछले 146 वर्षों में थोड़ी अधिक खतरनाक हो गई है। इसका एक मुख्य कारण ग्लोबिंग वार्मिंग भी है। इसका मतलब ये हुआ कि निकट भविष्य में कुछ पहाड़ों पर सुरक्षित रूप से चढ़ना संभव नहीं है। इसी कारण पिछले कुछ वर्षों में, पर्वतारोहियों को कई तरीकों से सलाह दी गई है। अध्ययन के बाद वैज्ञानिकों ने वर्तमान में उन लोगों को चेतावनी दी है, जो अभी भी पर्वतारोहण करने के लिए जूता पहनना चाहते हैं। इसके लिए टिम्मी कहते है कि पर्वतारोही पर्वतारोहण को तुरंत और हालिया नमूने से बदल सकते हैं, और पहले से भी अधिक, जैसे पहाड़ के गाइड या झोपड़ियों जैसे पेशेवारों से सलाह ले सकते हैं।