newsdog Facebook

पहले स्कूल में ताला जड़ा, फिर सड़क पर आ गए स्टुडेन्ट, दोनों तरफ लग गया जमघट आखिर क्या चाहते हैं छात्र-छात्राएं

Patrika 2019-07-12 15:44:43

पहले स्कूल में ताला जड़ा, फिर सड़क पर आ गए स्टुडेन्ट, दोनों तरफ लग गया जमघट आखिर क्या चाहते हैं छात्र-छात्राएं

बारां.जिले के जलवाड़ा कस्बे में शुक्रवार को स्टुडेन्ट ने पहले स्कूल के मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया। इसके बाद मुख्य सड़क पर आकर धरने पर बैठ गए।दरअसल स्टुडेन्ट स्कूल में व्याख्याता लगाने की माग कर रहे थे। करे भी क्यों नहीं जब स्कूल के सेशन की शुरूआत ही ऐसी है तो सेशन के अंत तक क्या होगा। जिले भर में सरकारी स्कूलों के ऐसे हालातों से स्टुडेन्ट त्रस्त हैं। पूरे वर्ष भर व्याख्याता नहीं होने से पढ़ाई डिस्टर्ब होती है। इसके बावजूद सरकार और स्थानीय प्रशासन कोई ध्यान नहीं देता। शुक्रवार को भी जलवाड़ा. कस्बे के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में दो वर्ष से व्याख्याताओं के रिक्त पद चल रहे है। इससे विद्यार्थियों कि पढ़ाई प्रभावित हो रही थी। इस वर्ष परीक्षा परिणाम पर भी ठीक नहीं रहा। रिक्त पदो को भरने कि मांग को लेकर सवेरे साढ़े सात बजे दर्जनो विद्यार्थियो ने मुख्य दरवाजे ताला लगा कर नारे बाजी अंतर्राज्यीय बराना मार्ग पर धरने पर बैठ गये। इससे दोनो ओर दो पहिया व चौपाया वाहनो कि लंबी कतारें लग गई। बस में बैठे यात्री भी काफी परेशान रहे। सूचना पर थाना प्रभारी जगदीश बाबू भी मय जाप्ते के मौके पर पहुंचे। किशनगंज ब्लॉक शिक्षा अधिकारी गोविंद बंसल ने विद्यार्थियों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन विद्यार्थी नहीं माने। बाद में जिला शिक्षा अधिकारी रामनारायण मीणा के आने व आश्वासन देने पर पर विद्यार्थियों ने मुख्य दरवाजे का ताला खोला व ग्रामीणो से वार्तालाप की। धरना समाप्त करने के बाद वाहनो का आवागमन सुचारू रूप से शुरू हुआ। किशनगंज ब्लॉक शिक्षा अधिकारी गोविंद बंसल ने विद्यार्थियों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन विद्यार्थी नहीं माने। बाद में जिला शिक्षा अधिकारी रामनारायण मीणा के आने व आश्वासन देने पर पर विद्यार्थियों ने मुख्य दरवाजे का ताला खोला व ग्रामीणो से वार्तालाप की। धरना समाप्त करने के बाद वाहनो का आवागमन सुचारू रूप से शुरू हुआ।
बाइट रोहित चक्रधारी