newsdog Facebook

जम्मू और कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों व सुरक्षा इंतजामों के सवाल पर एडीजी ने कही यह बात

HINDUSTAN VARTA 2019-08-14 15:02:09

जम्मू और कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों व सुरक्षा इंतजामों के सवाल पर एडीजी मुनीर खान ने बोला कि प्रदेश में सबकुछ अच्छा है. आप 15 अगस्त का जश्न कहीं भी मना सकते हैं. प्रदेश में कानून व्यवस्था व दशा नियंत्रण में हैं. श्रीनगर जिले व अन्य कुछ जगहों पर छिटपुटघटनाएं हुईं हैं, जिन्हें लोकल स्तर पर ही सुलझा लिया गया. कोई बड़ी घटना नहीं हुई.

जम्मू-कश्मीर में लगी पाबंदी पर खान ने कहा, ‘‘राज्य से पाबंदी, धारा 144 हटाने का निर्णय जिला कलेक्टर ही लेंगे. घाटी में साजिश के तहत फर्जी वीडियो फैलाए जा रहे हैं. कुछ वीडियो देखे गए, जो 2016 व 2010 के हैं. इन पर कार्रवाई की जा रही है. प्रदेश में सुरक्षा को लेकर यदि हम कुछ कह रहे हैं, तो आप उसकी पुष्टि कर सकते हैं.’’

15 अगस्त की तैयारियों पर पूरा ध्यान: एडीजी
एडीजी ने कहा, "हमारा पूरा ध्यान इसी पर है कि 15 अगस्त की तैयारियों में कोई गड़बड़ीन हो व इसे शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराया जाए. फिलहाल, संवेदनशील स्थानों पर ही पाबंदी लागू है. कश्मीर के स्कूल व प्रोग्राम वाले स्थानों पर पाबंदियां हटा ली गई हैं."

पुलिस विभाग ने कहा, ‘‘अनंतनाग कलेक्टर खालिद जहांगिर के नाम से सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें चलाई जा रही हैं. कश्मीर के डिविजनल कमिश्नर ने मुद्दे की जाँच का जिम्मा साइबर सेल को सौंप दिया है. साइबर टीम फर्जी खबरें फैलाने वाले संदिग्ध आदमी को तलाश रही है. हमारीअपील है कि किसी भी तरह की फर्जी खबरों पर विश्वास न करें. खबरों की पुष्टि करें."

5 अगस्त को हटाया गया था अनुच्छेद 370
गृह मंत्री अमित शाह ने 5 अगस्त को राज्यसभा में अनुच्छेद 370 समाप्त करने का प्रस्ताव रखा था. इसके कुछ देर बाद ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अधिसूचना जारी कर दी.जम्मू और कश्मीर का प्रदेश का दर्जा समाप्त कर दिया गया है. जम्मू और कश्मीर व लद्दाख दो भिन्न-भिन्न केन्द्र शासित प्रदेश होंगे. जम्मू और कश्मीर में विधानसभा होगी. इस निर्णय के बाद से ही प्रदेश में तनाव का माहौल है. यहां फोन व इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई.