newsdog Facebook

गर्भवती महिलाओं के लिए एक्सरसाइज है जरूरी

MomEspresso Hindi 2019-08-14 15:03:37

गर्भावस्था व्यवहार परिवर्तन के लिए एक अनूठा समय माना जाता है और ये बदलाव केवल गर्भावस्था तक ही सीमित नहीं रहते हैं। वर्तमान में यह माना जाता है कि गर्भावस्था के दौरान अपनाई गयीं आदतें महिला के बाकी जीवन में उसके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती हैं। पहली बार यह अनुशंसित किया गया है कि डायबिटीज से बचाव एवं इसके प्रबंधन के लिए एक्सरसाइज एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

शारीरिक गतिविधि के स्वास्थ्य लाभ अच्छी तरह से पहचाने जा सकते हैं और इसके विपरीत गैर-गतिविधि आदतें और कोर्डियोरेस्पाइरेटिरी फिटनेस के निम्न स्तर हृदय रोग के बाद के विकास के लिए मुख्य जोखिम घटक है। 

पहले त्रैमासिक के बाद, लापरवाही की स्थिति में वीनस रिटर्न से सम्बन्धित बाधा की स्थिति पैदा होती है और इस प्रकार कार्डिक आउटपुट में कमी आती है। इस प्रकार आराम करने तथा एक्सरसाइज करने के दौरान जितना संभव हो उदासीन स्थिति से बचना चाहिए। इसके अतिरिक्त, कार्डिक आउटपुट में महत्वपूर्ण कमी मोशनलेस स्टैंडिंग से जुड़ी है, इस प्रकार इस स्थिति से बचना चाहिए।   

लम्बे समय तक एक्सरसाइज करने के दौरान, पसीने के तौर पर फ्लूड निकलता है, जो हीट से मुक्ति दिलाता है। इस प्रकार डिहाइड्रेशन को बनाए रखना और इस प्रकार ब्लड वोल्यूम हीट बैलेंस के लिए निर्णायक होता है।

गैर-गर्भवती महिलाओं में फिटनेस बढ़ाने तथा बनाए रखने के लिए एक्सरसाइज करने की सलाह देना उनकी कार्डियोरैसपाइरेटरी (ऐराबिक एक्सरसाइज) और मस्कुलोस्केलेटल

(रेसिसटिव एक्सरसाइज) स्थिति में सुधार लाता है।

गर्भावस्था में की जाने वाली एक्सरसाइज में भी इसी तरह के घटक शामिल होने चाहिए। ऐरोबिक एक्सरसाइज में कोई भी ऐसी एक्टिीविटी निहित हो सकती है जिसमें लार्ज मसल्स निरंतर लयबद्ध तरीके से इस्तेमाल होते हैं - उदाहरण के लिए - वाॅकिंग, हाइकिंग, जोगिंग/रनिंग, ऐरोबिक डांस, स्वीमिंग, साइकलिंग, रोइंग, क्राॅस कंट्री स्काइंग, स्केटिंग, डांसिंग और रोप स्किपिंग जैसी एक्टीबिटीज। एक्सरसाइज करने की शुरूआत में सीमित तीव्रता में एक्सरसाइज करना उचित रहता है, सबसे आसानी से की जाने वाली एक्सरसाइज में वाॅकिंग या स्टेशनरी साइकलिंग विशेषकर उपयोगी हैं। 

डाॅक्टर द्वारा ग्रीन सिग्नल दिये जाने के बाद, डांस थेरेपी भी रिकमंड की जाती है।

आपकी बढ़ती बेली को अनुकूल बनाने के लिए, डांस रूटीन में कुछ बदलाव, आपकी ग्रेविटी का शिफ्टिंग सेंटर और आपका संभावित कम होता ऊर्जा स्तर जरूरी होगा। इनमें शामिल हैं:-

  •  जम्पिंग के बजाय चलना
  •  छलांग लगाने की बजाय कदम दर कदम चलना
  •  संशोधित ट्विस्ट और टर्न
  •  हर समय एक पैर जमीन पर जरूर होना चाहिए

कुछ विशिष्ट एक्टीविटीज में भाग लेने के लिए गर्भवती महिलाओं को रोकने सम्बन्धी कोई जानकारी मौजूद नहीं है, हालांकि इन एक्टीविटीज में अन्य की अपेक्षा ज्यादा जोखिम होता है जैसे कि उदासीन स्थिति में स्कूबा डाइविंग और खिंचाव।

हालांकि स्वीमिंग प्रतिकूल प्रभाव से नहीं जुड़ी है और आसानी से सहन की जा सकने वाली तैरती हुई स्थिति सृजित करने के लाभ हैं।

ऐसी गतिविधियां जिसने गिरने के जोखिम बढ़ते हैं जैसे स्काइंग या ऐसी गतिविधियां जिनसे ज्वाइंट स्ट्रेस बढ़ जाए जैसे कि जोगिंग या टेनिस के दौरान अधिकांश प्रेगनेंट महिलाओं द्वारा सावधानी बरती जानी चाहिए, लेकिन व्यक्तिगत क्षमताओं पर विचार करते हुए व्यक्तिगत आधार पर आंकलन किया जाना चाहिए। निश्चिततौर पर, इससे सम्बन्धित इंजरी के जोखिम की भविष्यवाणी करना मुश्किल है।

डायबिटीज, मोटाप या पुराने उच्च रक्तचाप से ग्रस्त गर्भवती महिलाओं के लिए व्यक्तिगत एक्सरसाइज नियमित रूप से की जानी चाहिए। 

इस तथ्य के बावजूद कि गर्भवस्था गंभीर शारीरिक और मानसिक परिवर्तनों से जुड़ी है, ऐसे में अधिकांश महिलाओं के लिए एक्सरसाइज के कम से कम जोखिम होने तथा लाभ होने की पुष्टि की गई है.